चित्रकूट उपचुनाव में कांग्रेस ने 14 हजार से ज्यादा वोटों से हासिल की जीत

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/11/12 05:15

भोपाल। मध्यप्रदेश के सतना जिले के चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव के लिए हुए मतदान के बाद आज हुई मतगणना के नतीजे सामने आ चुके हैं, जिनमें कांग्रेस ने भाजपा को पटखनी देते हुए 14 हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की है। ऐसे में अगले महीने गुजरात और 2018 में मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिहाज से कांग्रेस के लिए यह जीत काफी अहम मानी जा रही है।

मतगणना के बाद सामने आए परिणामों में मुताबिक, कांग्रेस के निलांशु चतुर्वेदी ने 14 हजार 333 वोटों के साथ बड़ी जीत हासिल की है। कांग्रेस को कुल 66 हजार 810 वोट मिले, वहीं भाजपा के उम्मीदवार शंकरदयाल त्रिपाठी को कुल 52 हजार 477 वोट हासिल हुए। गौरतलब है कि मतगणना के दौरान दो एवीएम मशीन के खराब होने की बात भी सामने आई, जिसके बाद मतगणना जारी रखने पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई, लेकिन जिला निर्वाचन अधिकारी के दखल के बाद मामले को शांत कराया गया।

पहले चरण की मतगणना में भाजपा 527 वोटों के साथ आगे रही थी। दूसरे चरण की मतगणना में कांग्रेस को 5255 और भाजपा को को 1727 मत मिले। कांग्रेस के प्रत्याशी नीलांशु चतुर्वेदी भाजपा से काफी आगे चल रहे हैं। तीसरे चरण की मतगणना के बाद भाजपा को 1855 और कांग्रेस को 4438 वोट मिले। चौथे चरण की मतगणना के बाद भाजपा को 1919 और कांग्रेस को 4350 वोट मिले।

वहीं पांचवें चरण की मतगणना के बाद भाजपा को 2228 और कांग्रेस को 4270 वोट हासिल हुए। छठे चरण के बाद भाजपा को 2526 और कांग्रेस को 4515 वोट मिले। सातवें चरण की मतगणना के बाद भाजपा को 2344 और कांग्रेस को 5076 वोट मिले। 9वें दौर की मतगणना के बाद कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी ने भाजपा उम्मीदवार शंकर दयाल त्रिपाठी पर 18,000 से अधिक मतों की बढ़त बना ली था। 13वें चरण में भाजपा 2793, कांग्रेस 2679 और नोटा को 106 वोट मिले।

चित्रकूट सीट के लिए हुए इस उपचुनाव में कुल 12 उम्मीदवार मैदान में थे, लेकिन मुख्य मुकाबला भाजपा के शंकरदयाल त्रिपाठी और कांग्रेस के निलांशु चतुर्वेदी के बीच था। 9 नवंबर को हुए मतदान में करीब 65 प्रतिशत मतदान हुआ था, जिसमें पुरुषों के मुकाबले महिलाओं का मतदान प्रतिशत ज्यादा रहा था। उत्तर प्रदेश की सीमा से लगी मध्यप्रदेश की चित्रकूट सीट कांग्रेस की परम्परागत सीट मानी जाती है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस विधायक प्रेम सिंह के निधन के कारण इस सीट पर नौ नवंबर को उपचुनाव कराया गया था, जिसमें 65% मतदान हुआ था। वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में सिंह ने 10,970 मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। उन्होंने भाजपा के सुरेन्द्र सिंह गहरवार को पराजित किया था।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

Big Fight Live | शर्तों के मेह\'मान\' ! | 16 OCT, 2018

रामपाल की सजा का ऐलान, मरते दम तक रहना होगा जेल में
रामपाल को हत्या और बंधक बनाने के मामले में आजीवन कारावास की सजा
अब इस नाम से जाना जायेगा इलाहाबाद, कैबिनेट में मिली मंजूरी
जानिए कैसे माँ की कृपा से रखे अपने आप को रोग मुक्त | Good Luck Tips
कोटा की रहने वाली मॉडल मानसी दिक्षित की मुंबई में हत्या
पूर्व राष्ट्रपति मिसाइल मैन एपीजे अब्दुल कलाम का आज ही के दिन हुआ था जन्म
ये सेल्फी बड़ी खतरनाक है !