IPL होते ही बीसीसीआई व आरसीए का संपर्क खत्म 

Published Date 2018/05/27 02:07, Written by- Naresh Sharma

जयपुर। क्या राजस्थान क्रिकेट संघ से भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने फिर से सबंध तोड़ लिए हैं?, क्या आईपीएल आयोजन तक ही बीसीसीआई ने आरसीए को तवज्जो दी थी? दरअसल जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में आरसीए क्रिकेट एकेडमी पर चल रहे अंडर-19 सेंट्रल जोन महिला क्रिकेट कैंप के आयोजन को देखकर तो यही लगता है। इस कैंप का आयोजन आरसीए नहीं, बल्कि टीम राजस्थान कर रही है, जो आईपीएल आयोजन से पहले राजस्थान में क्रिकेट संचालन करती थी।

दरअसल जब आरसीए पर प्रतिबंध लगा हुआ था, तब राजस्थान में क्रिकेट संचालन टीम राजस्थान करती थी। टीम राजस्थान में एक बीसीसीआई का  प्रतिनिधि  होता था। इसके बाद कोर्ट के आदेश के कारण जयपुर को आईपीएल की मेजबानी मिली। यह आयोजन राजस्थान क्रिकेट संघ द्वारा कराया गया। कोर्ट के आदेशानुसार बीसीसीआई ने आरसीए से ही संपर्क कायम रखा और पैसे भी दिए और कर्मचारियों को सैलेरी भी। अब जयपुर में आईपीएल आयोजन खत्म होने के बाद से ही बीसीसीआई ने आरसीए से संपर्क खत्म कर लिए हैं। 19 मई को जयपुर में आखिरी आईपीएल मैच था और 23 मई से यहां अंडर-19 महिला कैंप शुरू हो गया। इस कैंप के आयोजन की जिम्मेदारी बीसीसीआई ने आरसीए की बजाय टीम राजस्थान को दी है। राजस्थान क्रिकेट संघ के पदाधिकारियों को तो इसकी भनक तक नहीं लगी। 

आरसीए सचिव राजेंद्र नांदु का कहना है कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा की, "आरसीए एकेडमी पर जोनल कैंप लग रहा है, लेकिन मुझे इसकी कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है। आरसीए को कैंप आयोजन की जिम्मेदारी नहीं मिली। मेरी जानकारी में आया है कि टीम राजस्थान ही यह कैंप करा रही है। बीसीसीआई का यह फैसला समझ से परे हैं।"

वहीं जानकारों की माने, तो कोर्ट के आदेश पर सिर्फ आईपीएल आयोजन तक ही आरसीए व बीसीसीआई में संपर्क था। अभी भी मामला कोर्ट में चल रहा है। इसलिए जब तक कोर्ट से कोई आदेश नहीं आ जाता, तब तक आरसीए पर अंतिम फैसला नहीं हो सकता। तब तक टीम राजस्थान ही काम करती रहेगी। उधर आरसीए में खुद में भी विवाद चल रहा है। अध्यक्ष व सचिव आमने सामने हैं। दूसरी तरफ खेल परिषद व आरसीए के बीच एमओयू खत्म हो चुका है। ऐसे में बड़ा सकंट आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट पर भी आ सकता है। राजस्थान अध्यक्ष सीपी जोशी ने चार जून से कैलेंडर शुरू करने का ऐलान कर दिया है, लेकिन जिस तरह बीसीसीआई ने टीम राजस्थान को फिर से तरजीह दी है, उसको देखकर नहीं लगता कि आरसीए के बुरे दिन अभी खत्म हो गए हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------