दो साल तक पुलिस आरोपी आकाश का पता नहीं लगा सकी, लेकिन सोमवार रात को क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम को आरोपी के बारे में सूचना मिली तो घेराबंदी करके उसे पकड़ा गया। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से करीब 15 पेन ड्राइव, 4 आईपैड टेबलेट, महंगे मोबाइल समेत अन्य इलैक्ट्रानिक उपकरण व दस्तावेज बरामद किए है। जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर नगेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपी ने इस तरह ठगी की कई वारदातें करना स्वीकार किया है। पुलिस रिमांड पर लेकर उससे आगे की पूछताछ की जाएगी।

गौरतलब है कि आरोपी आकाश पर पार्टनरशिप और मेम्बरशिप के नाम पर करीब 15 करोड़ रुपए ठगे जाने का आरोप है। आरोपी की हरकत से परिवार वाले भी चिंतित थे। आरोपी के पिता भी ठगी करने से मना करते लेकिन वह नहीं माना। इस पर घरवालों ने आकाश को घर से निकाल दिया। आरोपी की पत्नी और बच्चे आरोपी के पिता के पास ही रहते हैं। अब पुलिस आरोपी के बैंक खातों की जांच करके ठगी के रुपयों का पता लगा रही है।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/Crime-Branch-of-Jaipur-Police-Commissionerate-did-big-action-against-swindler-1417936308", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "जयपुर पुलिस कमिशनरेट क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्यवाही, करोड़ों रुपए का ठग चढ़ा हत्थे", "author": "Ramswaroop Lamror" } ] }

जयपुर पुलिस कमिशनरेट क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्यवाही, करोड़ों रुपए का ठग चढ़ा हत्थे

Published Date 2017/12/05 07:41, Written by- Ramswaroop Lamror

जयपुर। राजधानी जयपुर के पुलिस कमिशनरेट क्राइम ब्रांच ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले बदमाश को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पता चला है कि आरोपी आकाश चौधरी ने मुम्बई में भी फिल्मी कलाकारों को भी लाखों रुपए का चूना लगाया है। करणी विहार पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम ने आरोपी आकाश चौधरी को गिरफ्तार किया है। आरोपी आकाश चौधरी जयपुर के मालवीय नगर का रहने वाला है। चार साल पहले आरोपी ने वैशाली नगर से आगे गांधी पथ पर सिटी क्लब बनाया था। इस क्लब में आकाश ने प्रतिष्ठित लोगों को मेम्बर बनाया। लाखों रुपए लेकर मेम्बरशिप के बाद सिटी क्लब में लोगों को पार्टी आयोजित करने, खाने-पीने और गेम्स खेलने की सुविधाएं उपलब्ध कराई।

इसी बीच सिटी क्लब में पार्टनर बनाने के नाम पर आदित्य अग्रवाल से 71 लाख रुपए लिए। 71 लाख रुपए लेने के बाद भी आरोपी ने आदित्य को पार्टनर नहीं बनाया और रुपए वापस मांगने पर टरकाता रहा। इसी बीच सिटी क्लब का मालिक आकाश चौधरी गायब हो गया। इस पर पीड़ित आदित्य ने जयपुर के करणी विहार थाने में ठगी का मुकदमा दर्ज कराया।

दो साल तक पुलिस आरोपी आकाश का पता नहीं लगा सकी, लेकिन सोमवार रात को क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम को आरोपी के बारे में सूचना मिली तो घेराबंदी करके उसे पकड़ा गया। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से करीब 15 पेन ड्राइव, 4 आईपैड टेबलेट, महंगे मोबाइल समेत अन्य इलैक्ट्रानिक उपकरण व दस्तावेज बरामद किए है। जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर नगेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपी ने इस तरह ठगी की कई वारदातें करना स्वीकार किया है। पुलिस रिमांड पर लेकर उससे आगे की पूछताछ की जाएगी।

गौरतलब है कि आरोपी आकाश पर पार्टनरशिप और मेम्बरशिप के नाम पर करीब 15 करोड़ रुपए ठगे जाने का आरोप है। आरोपी की हरकत से परिवार वाले भी चिंतित थे। आरोपी के पिता भी ठगी करने से मना करते लेकिन वह नहीं माना। इस पर घरवालों ने आकाश को घर से निकाल दिया। आरोपी की पत्नी और बच्चे आरोपी के पिता के पास ही रहते हैं। अब पुलिस आरोपी के बैंक खातों की जांच करके ठगी के रुपयों का पता लगा रही है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------