रक्षा मंत्री ने कहा कि देश की एयरफोर्स सुखोई की उड़ान भर के महसूस हुआ की हमारे पायलट कैसी मन:स्थिति से गुजरते हैं। इस उड़ान का अनुभव जिंदगी का सबसे अच्छा अनुभव साबित हुआ है। जोधपुर एयरबेस पर सुखोई की सफल उड़ान के बाद रक्षा मंत्री सीतारमण ने बताया कि सुखोई में उड़ान भरना वाकई अच्छा अनुभव रहा। मैंने माउंट एवरेस्ट से भी ऊंची उड़ान भरी है। आवाज की गति से भी तेज उड़ान भरी है।

इस उड़ान में सीतारमण करीब 45 मिनट तक आसमान में रहीं। उनके इस उड़ान का मकसद सेना के अलग-अलग अंगों की तैयारियों और कार्यप्रणाली को जानना बताया जा रहा है। सुखोई एयरफोर्स का सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमान है। सुखोई 30 MKI का ये वेरिएंट रुसी सुखोई एसयू 30 का मॉडिफाइड वर्जन है। सीतारमण इस लड़ाकू विमान की पिछली सीट पर सवार थीं। 31 स्क्वार्डन लॉयन को इसकी उड़ान भरने का जिम्मा सौंपा गया था। निर्मला सीतारमण पहली महिला रक्षामंत्री हैं, जिन्होंने लड़ाकू विमान में उड़ान भरी है।

गौरतलब है कि सीतारमण से पहले पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, एपीजे अब्दुल कलाम, पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्णांडिस, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू भी सुखोई की उड़ान भर चुके हैं। एपीजे अब्दुल कलाम ने करीब तीस मिनट तक उड़ान भरी थी। उन्होंने सबसे बुजुर्ग भरातीय के तौर पर फाइटर प्लेन सुखोई-30 में उड़ान भरने का रिकॉर्ड बनाया था। भारत रत्न और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और महेंद्र धोनी भी सुखोई-30 एमकेआई में उड़ान भर चुके हैं।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/Defense-Minister-Nirmala-Sitharaman-creates-another-history-with-fly-in-Sukhoi-30-MKI-1938286323", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "Sukhoi-30 MKI में उड़ान भर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रचा एक और इतिहास", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

Sukhoi-30 MKI में उड़ान भर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रचा एक और इतिहास

Published Date 2018/01/17 05:34, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। देश की पहली महिला रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज इतिहास रचते हुए आज एक और कीर्तिमान अपने नाम किया है, जिसमें उन्होंने लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई में उड़ान भरी। जोधपुर में एयरफोर्स बेस से सुखोई-30 लड़ाकू विमान में उड़ान भरने वाली वह देश की पहली रक्षा मंत्री हैं। सुखोई को वायु सेना के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माना जाता है। सुखोई में उड़ान भरने से पहले रक्षा मंत्री ने वायु सेना के जवानों से भी मुलाकात की। 

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण सेना के तीनों अंगों की हौसला अफजाई करती नजर आती रहती हैं। देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान की सवारी को अपनी जिंदगी का सबसे अच्छा अनुभव बताया है। जोधपुर में भारतीय वायु सेना के खास सुपरसोनिक विमान सुखोई की उड़ान के बाद निर्मला ने मीडिया के साथ अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने भारतीय वायुसेना की तारीफ करते हुए इसे दुनिया की बेस्ट एयरफोर्स में से एक बताया।

रक्षा मंत्री ने कहा कि देश की एयरफोर्स सुखोई की उड़ान भर के महसूस हुआ की हमारे पायलट कैसी मन:स्थिति से गुजरते हैं। इस उड़ान का अनुभव जिंदगी का सबसे अच्छा अनुभव साबित हुआ है। जोधपुर एयरबेस पर सुखोई की सफल उड़ान के बाद रक्षा मंत्री सीतारमण ने बताया कि सुखोई में उड़ान भरना वाकई अच्छा अनुभव रहा। मैंने माउंट एवरेस्ट से भी ऊंची उड़ान भरी है। आवाज की गति से भी तेज उड़ान भरी है।

इस उड़ान में सीतारमण करीब 45 मिनट तक आसमान में रहीं। उनके इस उड़ान का मकसद सेना के अलग-अलग अंगों की तैयारियों और कार्यप्रणाली को जानना बताया जा रहा है। सुखोई एयरफोर्स का सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमान है। सुखोई 30 MKI का ये वेरिएंट रुसी सुखोई एसयू 30 का मॉडिफाइड वर्जन है। सीतारमण इस लड़ाकू विमान की पिछली सीट पर सवार थीं। 31 स्क्वार्डन लॉयन को इसकी उड़ान भरने का जिम्मा सौंपा गया था। निर्मला सीतारमण पहली महिला रक्षामंत्री हैं, जिन्होंने लड़ाकू विमान में उड़ान भरी है।

गौरतलब है कि सीतारमण से पहले पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, एपीजे अब्दुल कलाम, पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्णांडिस, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू भी सुखोई की उड़ान भर चुके हैं। एपीजे अब्दुल कलाम ने करीब तीस मिनट तक उड़ान भरी थी। उन्होंने सबसे बुजुर्ग भरातीय के तौर पर फाइटर प्लेन सुखोई-30 में उड़ान भरने का रिकॉर्ड बनाया था। भारत रत्न और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और महेंद्र धोनी भी सुखोई-30 एमकेआई में उड़ान भर चुके हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Sambandhit khabre

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------