लाखों खर्च के बाद भी शहर में चारों तरफ गंदगी का आलम, घुटने टेकता नजर आ रहा स्वच्छ भारत अभियान 

Published Date 2017/10/09 07:09, Written by- FirstIndia Correspondent
+2
+2

करौली| शहर में भले ही गांधी जयंती सेे देशभर में शुरू हुए स्वच्छता अभियान में भले ही देशभर में स्वच्छता की ओर कदम उठाए जा रहे है। दीपावली जैसे जैसे नज़दीक आ रही है| नगर परिषद के स्वच्छ भारत अभियान की पोल खुलती नज़र आ रही है, लेकिन हिण्डौन में इस अभियान की सफलता के लिए काफी कुछ किया जाना बेहद जरूरी है। यदि देश को स्वच्छ करने के इरादे से लागू इस अभियान को गंभीरता ले लिया जाता तो शहर में जगह-जगह गंदगी का आलम नहीं होता। 

शहर के जनप्रतिनिधि एवं समाजसेवक केवल हाथ में झाडू लेकर समाचार पत्रों में फोटो खिचवाने तक ही सीमित है। ऐसा ही गंदगी का नजारा शहर के प्रत्येक वार्डो में देखने को मिल रहा है। यहां पर पसरी गंदगी को देखकर लग रहा था कि शायद यह क्षेत्र सरकार के स्वच्छता अभियान में नहीं आता है। शहर का बाजार में खरीददारी के लिए जहां रोजाना हजारों की संख्या में लोगों की आवाजाही होती है, वहां ना तो सडक़ सही है, ना सफाई की तो बात ही मत करो। शहर की सडक़ों की नालियां तो इस कदर गंदगी से लबालब है मानो उन्हें महीनों से ही साफ न किया गया हो। पास ही में आवारा पशुओं का जमावड़ा है।

पशुओं को शहर से बाहर करने का टैंडर 3 माह पूर्व में किया 2 लाख रु का टेंडर हुआ लेकिन शहर से आवारा पशुओं को नही गया शहर से बाहर नही हो पाए और  ठेकेदारों ने टेंडर के पैसे उठा लिए| शहर में राधारमण मंदिर, वटपाल वाली मस्जिद, पीलू वाली मस्जिद, हरदेव जी का मंदिर के पास इस कदर कचड़ा जमा की आने जाने वाले श्रद्धालुओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है, लेकिन नगर परिषद के अधि्कारी स्वच्छ भारत मिशन को पलीता लगाते नज़र आ रहे है।

साथ ही इस पर कोई पत्थर भी नहीं रखे हुए जिससे लोगों को अपने वाहन तक ले जाने में दिक्कते हो रही है। इस नाले की वजह से कई बार वृद्ध यहां गिर चुके है। सरकार स्वच्छता अभियान के नाम पर करोड़ों रूपए खर्च कर रही है, लेकिन शहर के बीचों-बीच इस प्रकार गंदगी और अव्यवस्था होना नगरपरिषद की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाती है।नगर परिषद पूर्व पार्षद सलीम कुरेशी ने बताया की नगर परिषद के सभी वार्डों में गन्दगी के ढेर लगे हुए है सबसे बड़ा त्यौहार पर नगर परिषद का प्लान फेल होता नजर आता है। 

शहर को स्वच्छ बनाने के लाखों रुपये खर्च करने के बाबजूद भी जगह जगह गंदगी नज़र आ रही है। शाहवासियो का कहना है कि शहर के हर गली मौहल्ले में सुअरों ने आतंक मचा रखा है। रास्तों में आये दिन दुपहिया वाहन चालक सुअरों से टकराकर घायल होते नज़र आ रहे है, लेकिन नगर परिषद आवारा जानवरो को हटाने के लिए लाखों रुपये खर्च करने के बाद भी आवारा जानवर शहर की मुख्य सड़क पर घूमते नज़र आ रहे है। शहर में स्वच्छ भारत अभियान घुटने टेकता नज़र आ रहा है।

 


 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

17498