आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा को लगे 'ब्रेक'

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/06 11:56

जैसलमेर। जिले में हादसों और प्रसव के आपातकाल में जिस एम्बुलेंस सेवा को लोगों के लिए ‘जीवनदायी’माना जाता है, उसकी सेवाओं पर इन दिनों लगभग ‘ब्रेक’ लग गए हैं। 108 और 104 सेवाओं में जुड़े वाहन इन दिनों जैसलमेर स्थित एक गैराज में खड़े हैं।

जानकारी के अनुसार वाहनों के मिस्त्री का लाखों रुपए का भुगतान बकाया है। लिहाजा उसने वाहनों की रिपेयरिंग को लेकर लगभग हाथ खड़े कर रखे हैं।दूसरी ओर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे के अंतर्गत संचालित होने वाली इस सेवा के जिम्मेदार मिस्त्री को जल्द भुगतान कर देने का भरोसा ही दिला पा रहे हैं। जैसलमेर दुर्ग के पास रिंग रोड में आए एक मोटर गैराज में 108 और 104 एम्बुलेंस सेवाओं से संबंधित 4 बड़ी तथा 3 छोटी गाडि़यां कई दिनों से खड़ी नजर आ रही है। वाहन मिस्त्री का बीते फरवरी माह से भुगतान बकाया चल रहा है और यह राशि करीब 9 लाख रुपए बताई जाती है। संबंधित अधिकारी इस दौरान मिस्त्री को जल्द भुगतान करने के आश्वासन देते हुए वाहनों की मरम्मत करवाते रहे लेकिन अब मिस्त्री ने भुगतान नहीं होने तक गाडि़यों की मरम्मत करने में असमर्थता जाहिर की है। 

आपकों बता दे कि जिले में आपातकालीन सेवाओं के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे के पास कुल 29 गाडि़यां हैं। इनमें से एक बेस एम्बुलेंस के अलावा 13 वाहन 108 के लिए तथा 14 वाहन 104 सेवा के लिए निर्धारित हैं। ये वाहन जिले के अलग-अलग चिकित्सा केंद्रों के अंतर्गत अपनी सेवाएं देती हैं।जहां कहीं भी सड़क हादसा होने पर नजदीकी एम्बुलेंस को तुरंत मौके पर पहुंचना होता है।जिले के कई ग्रामीण इलाकों से आपातकालीन परिस्थितियों में एम्बुलेंस के तुरंत मौके पर नहीं पहुंचने की शिकायतें भी मिलती रहती हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

Private video

Rajasthan Gaurav Yatra | झुंझुनू, बुहाना में CM Vasundhara Raje का संबोधन
रावणा राजपूत समाज के मान-सम्मान की करेंगे रक्षा : सचिन पायलट
मूलांकअनुसार क्या कहता है राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और संगठन महासचिव अशोक गहलोत का भविष्य
जीका वायरस की दस्तक पर चिकित्सा विभाग अलर्ट, जाने क्या है ज़ीका वायरस
खंडेला विधानसभा का क्या है सियासी मिजाज ? | चुनावी यात्रा
CM राजे की बानसूर सभा में हंगामा, सिक्योरिटी ने संभाले हालात