तिवाड़ी मामले में मेरी भूमिका ढूंढने के बजाय भाजपा को आरोपों का जवाब देना चाहिए : गहलोत

Published Date 2018/06/26 06:49,Updated 2018/06/26 07:29, Written by- FirstIndia Correspondent

हिंडौली (बूंदी)। कांग्रेस के दिग्गज विधायक अशोक चांदना की पहल पर 26 जून को राजस्थान के बूंदी जिले के हिंडौली कस्बे में मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम हुआ। इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव अशोक गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट, हिण्डोली विधायक अशोक चंदना, पूर्व मंत्री हरी मोहन शर्मा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रामनारायण मीणा सहित नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कांग्रेस के मेरा बूथ-मेरा गौरव कार्यक्रम में गहलोत और पायलट ने भाजपा सरकार को कई मुद्दों पर घेरा, साथ ही जनता से किए हुए वादों को नहीं निभाने पर सत्ता से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। वहीं कांग्रेस को विधानसभा मे 200 सीटों पर जीत का दावा भी किया।  

महादेव की कृपा: चांदना

हिंडौली के कार्यक्रम में गहलोत और पायलट की एक साथ उपस्थिति पर विधायक चांदना का कहना रहा कि, "उन पर महादेव की कृपा है, कार्यक्रम में सीपी जोशी को भी आना था, लेकिन वे व्यस्त होने की वजह से नहीं आ सके,नवम्बर में होने वाले विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए कांग्रेस के नेता एकजुट हैं।"

तिवाड़ी प्रकरण में भूमिका नहीं: गहलोत

गहलोत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि,"पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी के भाजपा छोड़ने में मेरी कोई भूमिका नहीं है, पिछले साढ़े चार साल में तिवाड़ी से दिल्ली के सर्किट हाउस में मात्र एक बार मिला हूं। भाजपा को इस्तीफे में मेरी भूमिका ढूंढने के बजाए तिवाड़ी के आरोपों का जवाब देना चाहिए। तिवाड़ी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिख राजस्थान में भाजपा सरकार को पूरी तरह एक्सपोज कर दिया है। जब भाजपा के नेता ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर इतने संगीन आरोप लगा रहे हैं तो स्थिति का अंदाजा लगा लेना चाहिए। जब भी चुनाव आते है तब ही भाजपा को राम मंदिर,गौमाता, अनुच्छेद 370 आदि मुद्दों की याद आती है।"

प्रदेशाध्यक्ष ही नहीं है : पायलट

वहीं सचिन पायलट ने कहा कि," भाजपा के पास तो प्रदेशाध्यक्ष ही नहीं है। पिछले ढ़ाई माह से प्रदेशाध्यक्ष का पद रिक्त पड़ा है। भाजपा में अंर्तकलह इतना है कि अध्यक्ष की नियुक्ति ही नहीं हो पा रही है। वैसे भी प्रदेश की जनता ने भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है। जिस प्रकार लोकसभा के उपचुनावों में कांग्रेस को सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों में जीत हासिल हुई, उसी प्रकार विधानसभा के चुनाव में भी सभी 200 सीटों पर सफलता मिलेगी। प्रदेश में बहुमत से सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस में कोई विवाद नहीं है।"

पोपाबाई का राज: गहलोत

गहलोत ने हिंडौली के सममेलन को संबोधित करते हुए कहा कि,"प्रदेश में इस समय पोपाबाई का राज है। ऐसे राज में आम लोगों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। आम लोग बिजली-पानी को लेकर त्रस्त हैं। साढ़े चार वर्ष पहले जो वायदे किए गए थे उन्हें पूरा नहीं किया गया है। प्रदेश की जनता के साथ यह सरासर धोखाधड़ी है। नवम्बर में होने वाले चुनाव में जनता भाजपा की सरकार को सबक सिखाएंगी।"

इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अशोक गहलोत अजमेर से नसीराबाद, सरवाड़, केकड़ी, देवली आदि शहरों से होते हुए हिंडौली पहुंचे तो वहीं पायलट जयपुर से शिवदासपुरा, चाकसू, निवाई, टोंक होते हुए हिंडौली पहुंचे। दोनों ही नेताओं का जगह-जगह शानदार स्वागत किया गया। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने दोनों नेताओं का स्वागत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

25045