अफसरशाही के खिलाफ सांचौर विधायक बैठे भूख हड़ताल पर 

Published Date 2018/07/05 03:52, Written by- FirstIndia Correspondent

जालोर। सांचौर में अफसरशाही के खिलाफ विधायक को भूख हड़ताल पर बैठना पड़ा है। उसके साथ ही 35 बीएलओ की नियुक्ति पर विवाद भी खड़ा हो गया है।वहीं सांचौर विधायक ने अफसरों पर जाति विशेष की जगह अन्य जाति के बीएलओ लगाने की मांग तक कर डाली हैं।

सांचौर उपखंड मुख्यालय के आगे विधायक सुखराम विश्नोई ने किसानों को बाढ़ का मुआवजा दिलवाने, शहर में लगातार हो रही चोरी की वारदातों का खुलासा करने, बिगड़ी कानून व्यवस्था को सुधारने सहित विभिन्न मांगों को लेकर भूख हड़ताल शुरू की जिसका आज दूसरे दिन है। विधायक सुखराम विश्नोई ने साफ तौर पर प्रशासन के सामने ऐलान किया कि," जब तक मांगों का निस्तारण नहीं होगा, वे भूख हड़ताल जारी रखेंगे।" लेकिन विधायक की इस भूख हड़ताल से 35 बीएलओ की नियुक्ति को लेकर एक नया विवाद शुरू हो गया है।

विधायक सुखराम विश्नोई ने फर्स्ट इंडिया से खास बातचीत में 35 बीएलओ की नियुक्ति को लेकर एसडीएम पर दबाव डालने सहित विश्नोई जाति के बीएलओ होने से 35 बीएलओ को हटाकर चौधरी जाति के 35 बीएलओ को नियुक्त करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायक के आरोपों के चलते राजनीतिक गलियारों में सरगर्मियां बढ़ गई है इतना ही नहीं विधायक के आरोपों से भाजपा भी पूरी तरह खफा नजर आ रही है। विधायक ने जाति विशेष के बीएलओ नहीं लगा कर दोनों जाति से अन्य जाति के बीएलओ लगाने की मांग तक कर डाली। जिससे सीधे तौर पर सियासत से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

सांचौर विधायक सुखराम विश्नोई की भूख हड़ताल का आज दूसरा दिन है। विधायक कल से उपखंड मुख्यालय के आगे भूख हड़ताल पर बैठे हैं जिसमें विधायक के समर्थन में पूर्व प्रधान डॉ.शमशेर अली सहित कांग्रेसी कार्यकर्ता भी धरने पर बैठे हैं। विधायक की मांगों को एसडीएम ने कलेक्टर को अवगत भी करा दिया है, लेकिन अभी तक विधायक से अधिकारियों ने कोई वार्ता नहीं हुई है। ऐसे में अब देखना होगा कि विधायक की भूख हड़ताल से किसानों को कितना हक मिल पाता है और जिस तरीके से राजनीतिक मायनों की चर्चा है जिसमें चुनावी समय में विधायक की भूख हड़ताल कितना वोटरों पर असर डाल पाएगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

25953