दिमाग रखना है दुरुस्त तो बनाए ज्यादा दोस्त

Published Date 2018/06/07 05:42, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली। बड़े-बुजुर्गों से सभी ने सुना है कि अगर दिमाग को तेज बनाना है तो बादाम खाओ। ज्यादा दोस्त और सामाजिक दायरा बड़ा होने से दिमाग पर उम्र का असर देर से होता हैं। दिमाग भी दुरुस्त रहता है और जीवन स्तर में भी सुधार होता है। हाल ही के एक शोध में यह बात सामने आई है कि यादों, भावनाओं और प्रेरणाओं को महसूस करने वाला दिमाग का हिस्सा उम्र के साथ  प्रभावित होता है। 
 
शोध के परिणाम 

जर्नल 'फ्रंटियर इन एजिंग न्यूरोसाइंस' प्रकाशित शोध के तहत शोधकर्ताओं के दल ने 15 से 18 महीने के चूहों के दो समूह बनाकर तीन महीनों तक अध्ययन किया। जब उनकी स्मरण शक्ति में गिरावट आने लगती है तो चूहों को एक खिलौना पहचानने का शोध कर उनकी स्मरण शक्ति परखी गई। शोध के परिणामों के अनुसार समूह में रहने वाले चूहों की स्मरण क्षमता बेहतर थी। 

शोधकर्ता एलिजाबेथ किर्बी ने कहा- "जहां अकेले साथी के साथ रहने वाले चूहे पहचानने में असफल रहे कि किसी वस्तु को हटाया गया है, वहीं समूह में रहने वाले चूहे दूसरी जगह रखे पुराने खिलौने के पास गए और अपने स्थान पर रखे गए दूसरे खिलौने को नजर अंदाज कर दिया।"

अमेरिका के कोलंबस में 'ओहियो स्टेट विश्वविद्यालय' में 'न्यूरोलॉजिकल इंस्टीट्यूट' की शोधकर्ता एलिजाबेथ किर्बी ने कहा की 'हमारे शोध में खुलासा हुआ कि सामाजिक रूप से सक्रिय व्यक्ति के दिमाग पर उम्र का प्रभाव पड़ता है।' भविष्य में शोध कर सामाजिक स्वभाव का स्मरण शक्ति और मानसिक स्वास्थ्य से संबंधों का भी खुलासा किया जा सकेगा। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------