मिशन 2018: बीजेपी-कांग्रेस के MP लड़ेंगे MLA का चुनाव!

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/10 11:55

जयपुर (योगेश शर्मा)। विधानसभा चुनावों को फतह करने के लिये बीजेपी एक नई रणनीति पर काम कर रही है। इसके तहत तकरीबन 15 सांसदों को विधायक का चुनाव लड़ाया जा सकता है। सांसदों को विधानसभा के चुनावी समर में उतारने के पीछे सियासत यह है कि एंटी इंकमबेंसी को कम करना और कांग्रेस को घेरना। बीजेपी के रणनीतिकारों का मानना है कि चेहरों की अदला बदली से संभावित नुकसान की भरपाई हो सकती है। मदन लाल सैनी भी लड़ सकते है विधानसभा चुनाव। कांग्रेस के रघु शर्मा केकडी फिर हो सकते है उम्मीदवार। 

लोकसभा चुनाव 2014में राज्य की बीजेपी ने 100फीसदी जीत के मद्देनजर कुछ विधायकों को सांसद का चुनाव लड़ाया था। इनमें प्रमुख नाम रहा था ओम बिरला, बहादुर सिंह कोली, सांवर लाल जाट और संतोष अहलावत। यह चारों विधायक बाद में सांसद बने थे और इनकी खाली हुई सीटों पर विधानसभा का उप चुनाव हुआ था। इसके पीछे कारण एक ही है कि पहले विधानसभा चुनाव जीता जाये और फिर लोकसभा का। पुराने फार्मूले को नवीन शेप में अपनाते हुये बीजेपी अब लोकसभा सांसदो को विधानसभा चुनाव 2018 में आजमाने का मन बना रही है। 


बीजेपी के MP लडेंगे MLAबनाने का चुनाव

-विधानसभा चुनाव 2018 के लिये नई रणनीति
-करीब 15सांसदों को विधानसभा चुनाव लड़ाया जा सकता है

ओम बिरला
--वर्तमान में कोटा-बूंदी से बीजेपी सांसद 
--ओम बिरला फिर लड़ सकते है कोटा शहर से विधानसभा चुनाव
--पार्टी धारीवाल के सामने भी लड़ा सकती है चुनाव
--बिरला पहले कोटा दक्षिण से रह चुके विधायक
--संदीप शर्मा की जगह भी प्रत्याशी संभव

निहाल चंद मेघवाल
--वर्तमान में श्रीगंगानगर-हनुमानगढ लोकसभा सांसद
--निहाल चंद मेघवाल को लड़ाया जा सकता है रायसिंहनगर से विधानसभा का चुनाव
--रायसिंहनगर से पहले भी निहाल चंद रह चुके है विधायक
--देश की सर्वाधिक एससी जनसंख्या बहुल लोकसभा सीट है श्रीगंगानगर-हनुमानगढ 

बहादुर सिंह कोली
--वर्तमान में भरतपुर से बीजेपी सांसद
--बहादुर सिंह कोली को लड़ाया जा सकता है वैर या फिर बयाना विधानसभा सीट से चुनाव
--कोली पहले भी रह चुके है विधायक

अर्जुन राम मेघवाल
--वर्तमान में बीकानेर से लगातार दूसरी बार बीजेपी विधायक 
--मोदी सरकार में जल संसाधन राज्य मंत्री 
--अर्जुन राम मेघवाल को खाजूवाला, अनूपगढ़ अथवा सुजानगढ़ से विधानसभा के चुनावी समर में उतारा जा सकता है

संतोष अहलावत
--झुंझुनूं से लोकसभा सांसद
--संतोष अहलावत को फिर सूरजगढ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ाने की संभावना है
--श्रवण कुमार को चुनौती देती आ सकती नजर
--अहलावत रह चुकी है सूरजगढ से पहले विधायक

चंद्र प्रकाश जोशी
--वर्तमान में चितौड़ से सांसद
--सीपी जोशी का नाम दो जगह से चर्चा में
--चितौड़ या मावली विधानसभा सीट से चुनावी समर में उतारा जा सकता है

गजेन्द्र सिंह शेखावत
--जोधपुर से सांसद 
--गजेन्द्र सिंह शेखावत को पोकरण, सरदारपुरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ाने की सुगबुगाहट 
--मोदी सरकार में कृषि राज्य मंत्री है शेखावत 

कर्नल सोनाराम
--बाडमेर से सांसद
--बायतू विधानसभा सीट से चुनाव लड़ाने की चर्चा
--सोनाराम पहले भी रह चुके है बायतू विधायक 

रामनारायण डूडी
--राज्यसभा में बीजेपी सांसद है डूडी
--डूडी को लूणी से विधानसभा चुनाव लड़ाने की चर्चा
--रामनारायण डूडी पहले भी विधायक रह चुके है

मदनलाल सैनी
--वर्तमान में राज्यसभा सांसद 
--नवलगढ़, उदयपुरवाटी से नाम चर्चा में
--बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी है सैनी

रामचरण बोहरा
--जयपुर शहर से सांसद 
--जयपुर से सांसद रामचरण बोहरा को सांगानेर से विधानसभा का चुनाव लड़ाया जा सकता है 

अर्जुन लाल मीणा
--उदयपुर से सांसद 
--अर्जुन लाल मीणा लड़ सकते है उदयपुर ग्रामीण से विधानसभा का चुनाव
--हालांकि यहां काफी कुछ गुलाब चंद कटारिया की रजामंदी पर भी निर्भर है

डॉ किरोड़ी लाल मीणा
--डॉ किरोड़ी है बीजेपी से राज्यसभा सांसद 
--पूर्वी राजस्थान की कम से कम 8सीटों पर उनकी नजर 
--लालसोट, दौसा, महुवा, सपोटरा, राजगढ़ ,बामनवास
--सवाई माधोपुर और टोड़ाभीम पर उनकी नजरें
--नेतृत्व तय करेगा डॉ किरोड़ी कहां से आजमायेंगे भाग्य

राज्य वर्धन सिंह राठौड़
--जयपुर देहात से भाजपा सांसद
--मोदी सरकार में सूचना प्रसारण राज्य मंत्री 
--राज्यवर्धन सिंह विधानसभा के चुनावी समर में उतारे जा सकते है
--कोटपूतली, विद्याधरनगर और झोटवाड़ा से लड़ाया जा सकता चुनाव 

भूपेन्द्र यादव
--बीजेपी से राज्यसभा सांसद है भूपेन्द्र यादव 
--बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव है यादव 
--अमित शाह के नजदीकियों में होती है गिनती
--तिजारा, मुंडावर, बहरोड़ और झोटवाड़ा से लड़ सकते है विधानसभा चुनाव 
--यादव बहुल सीट पर उनकी नजर 

लोकसभा और राज्यसभा के सांसदो को विधानसभा चुनावों के समर में उतारने के पीछे कई कारणों का हवाला दिया जा रहा है। उदाहरण के तौर पर निहाल चंद और अर्जुन राम मेघवाल को विधानसभा चुनावों के समर में उतारकर दलित कार्ड खेला जा सकता है, कांग्रेस के कद्गावर दलित नेताओं को चुनौती दी जा सकती है। मदन लाल सैनी को विधानसभा चुनावों में उतारकर शेखावाटी में माली कार्ड खेला जा सकता है या फिर भारत वाहिनी को रोकने की रणनीति। गजेन्द्र सिंह शेखावत को मैदान में उतारकर अशोक गहलोत को रोकने की रणनीति अपनायी जा सकती है साथ ही खेला जा सकता है जातीय कार्ड। डॉ किरोड़ीलाल मीणा बीजेपी के पास मीना कोर बैल्ट में जीताऊ चेहरे के तौर पर देखे जाते है, उन्हें विधानसभा चुनावों के समर में लाकर समीकरण बदलने की योजना। अलवर लोकसभा उपचुनाव में करारी शिकस्त के बाद बीजेपी को नये यादव क्षत्रप की तलाश है, भूपेन्द्र यादव मुफीद हो सकते है, बशर्ते अमित शाह उन्हें इजाजत दे, फिलहाल वो राष्ट्रीय राजनीति में बेहद व्यस्त है। रामचरण बोहरा को सामने लाकर सांगानेर में घनश्याम तिवाड़ी को घेरने की योजना पर काम चल रहा है, हालांकि बीजेपी अन्य विकल्प पर भी काम कर रही। मौजूदा विधायक की एंटी इन्कमबैंसी को डैमेज करने के साथ ही चर्चित को मैदान में उतारकर प्रचार में माइलेज लेने के प्रयासों के तहत भी बीजेपी नवीन चुनावी रणनीति पर काम कर रही है, इंतजार करना होगा टिकट वितरण तक। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

10:00 बजे की सुपर फास्ट खबरें

बर्थडे स्पेशल: 4 साल 14 राज्य, अमित शाह ने यूं बीजेपी का लहराया परचम
अफसरों की रार, सीबीआई पर \'रिश्वत\' की मार
Big Fight Live | ​दोहरा वार-पलटवार | 22 OCT, 2018
दिल्ली में 400 पेट्रोल पंप हड़ताल पर गए
यूपी विधान परिषद के सभापति की पत्नी गिरफ्तार, बेटे के मर्डर का आरोप
ब्लैकमनी पर \'सफेद\' सवाल, CIC के सवालों में घिरा PMO!
चलती कार में लगी आग, जिंदा जला ड्राइवर