जया बच्चन पर बयान को सुषमा ने बताया अस्वीकार्य, नरेश अग्रवाल ने जताया खेद

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/03/13 12:05

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता रहे नरेश अग्रवाल के सपा छोड़कर भाजपा में शामिल होने के बाद जया बच्चन को लेकर दिए गए बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। अग्रवाल के बयान को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जया बच्चन जी के विषय में नरेश अग्रवाल की टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है। वहीं विवाद बढ़ने के बाद नरेश अग्रवाल ने अपने बयान को लेकर खेद जताया है और अपने शब्द वापस लेने की बात कही है।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी से राज्यसभा टिकट नहीं दिए जाने को लेकर नाराज चल रहे राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल सपा का दामन छोड़कर कल ही भाजपा में शामिल हुए थे। इससे पूर्व अग्रवाल ने सपा के प्रति अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए एक विवादित बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि पार्टी में उनकी तुलना फिल्मों में नाचने और काम करने वाले लोगों के साथ की गई है। अग्रवाल ने यह भी कहा था कि राज्यसभा चुनावों में उनका विधायक बेटा भाजपा के पक्ष में मतदान करेगा।

अग्रवाल के बयान को लेकर विवाद बढ़ा तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी उनके इस बयान की निंदा की है। सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि, 'श्री नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है, लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है।' वहीं भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने अग्रवाल की टिप्पणी से तुरंत पार्टी को अलग बताया और कहा कि उनकी पार्टी सभी क्षेत्रों के लोगों का सम्मान करती है और राजनीति में उनका स्वागत करती है।

वहीं खुद अग्रवाल ने भी जया बच्चन को लेकर दिए अपने बयान पर खेद जताया है और कहा कि अगर मेरे बयान से किसी को ठेस पहुंची है, तो इसके लिए मैं खेद व्यक्त करता हूं। गौरतलब है कि अग्रवाल की टिप्पणी पर बीजेपी महिला नेताओं द्वारा आपत्ति जताए जाने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी बयान की निंदा की थी और बीजेपी से कड़ी कार्रवाई करने की अपील की थी। ऐसे में अपने बयान को लेकर बैकफुट पर आए अग्रवाल ने अब यह बयान दिया है।

उल्लेखनीय है कि जोड़-तोड़ की राजनीति में माहिर खिलाड़ी नरेश अग्रवाल अपनी पैठ सूबे के सभी राजनीतिक दलों में रखते हैं। यही वजह है कि अक्सर उनके बारे में पार्टी बदलने की खबर आती रहती है। अग्रवाल ने अपनी राजनीतिक पारी 1980 में कांग्रेस से शुरु की थी। इसके बाद दल बदलने का और जिसकी सत्ता हो उसके करीब रहने का इतिहास रहा है। कांग्रेस छोड़कर लोकतांत्रिक कांग्रेस बनाई और बीजेपी की कल्याण सिंह और राजनाथ सिंह की सरकार में मंत्री बने थे।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

हज यात्रा 2018 का समापन

देश विदेश की बड़ी खबरें फटाफट अंदाज़ में | India 360
जानिए क्या है जीका वायरस
राजधानी में जीका वाइरस की दस्तक पर केंद्र में \'खलबली\'
मोहर्रम के अगले दिन ताला गांव में झगड़ा, चली लाठियां और सरिये
क्या आप पैसों की समस्याओं से मुक्ति पाना चाहते हैं ,क्या आप नौकरी में प्रमोशन चाहते हैं
कैसे आर्थिक तंगी से निजात पायी जाए, जानिए आर्थिक स्थिति सुधारने के उपाय | Good Luck Tips
दागी नेताओं पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नेताओं पर चार्जशीट के आधार पर कार्रवाई नहीं