जॉर्डन हत्याकांड में तीन आरोपियों की फोटो पुलिस ने जारी की इनामी राशि

Published Date 2018/06/11 09:22,Updated 2018/06/11 09:41, Written by- FirstIndia Correspondent

श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर में 22 मई को जॉर्डन की हत्या बहुत मजबूत प्लानिंग का परिणाम थी। हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने से पहले भागने के रास्ते और छुपने के ठिकाने तक तय किए हुए थे। वारदात सुबह 5:15 से 5:30 बजे के बीच की गई और पौने घंटे बाद ही आरोपियों की गाड़ी हनुमानगढ़ के रास्ते होकर चौटाला में हरियाणा बॉर्डर पार कर गई थी। पुलिस को वारदात की सूचना जिम के प्रशिक्षक ने तत्काल ही दे दी थी, लेकिन पुलिस मौके पर ही करीब पौने घंटे बाद पहुंची। इसके बाद नाकाबंदी करवाई गई तब तक आरोपियों की कार घटनास्थल से करीब 100 किलोमीटर दूर जा चुकी थी। 

सूत्रों के अनुसार पुलिस ने घटना के बाद सभी बड़े सड़क मार्गों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले, तब सामने आया कि आरोपियों की कार हनुमानगढ़ की ओर से ही आई थी और उसी रास्ते वापस लौट गई। हत्यारे पांच अथवा इससे भी ज्यादा हो सकते हैं। चार आरोपियों को तो पुलिस ने पहचान भी लिया और उनकी फोटो व नाम आदि सार्वजनिक कर पकड़ने के लिए आमजन से सहयोग मांगा है। आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए वारदात में इस्तेमाल की गई कार को चौटाला के रास्ते हरियाणा में पहुंचा दिया, जबकि खुद पहले से तय किए गए सुरक्षित ठिकानों में जा छिपे। हरियाणा एसटीएफ के हाथों गिरफ्तार हुआ संपत नेहरा तो हैदराबाद में जा छुपा था। अन्य आरोपी भी ऐसी जगह छुपे हुए हैं जहां पर पुलिस का इतनी आसानी से पहुंचना नामुमकिन है। हालांकि पुलिस के हाथ एक ऐसा सहयोगी लगा हुआ है जिस पर संपत के छुपे होने की सूचना लीक करने का अनुमान है। इसी आरोपी से अन्य आरोपियों के ठिकाने पता चले हैं। पुलिस सावधानीपूर्वक इन ठिकानों पर नजर रखे हुए है। इधर एसओजी जयपुर टीम अपने खुद के नेटवर्क से काम कर रही है। 

फर्स्ट इंडिया की पड़ताल में सामने आया 

जॉर्डन हत्याकांड में शामिल तीन आरोपियों पर श्रीगंगानगर पुलिस ने 5-5 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। पुलिस के अनुसार जो कोई भी व्यक्ति इन आरोपियों की सूचना देगा उसे नकद इनाम से पुरस्कृत किया जाएगा। जवाहरनगर थाना प्रभारी प्रशांत कौशिक के अनुसार एसपी हरेंद्र महावर ने रविवार को चिन्हित आरोपियों के फोटो जारी किए। जिसमें फाजिल्का जिले के दुतारांवाली निवासी हरदीप संधू उर्फ लाहोरिया उर्फ भागू उर्फ हन्नी पुत्र बलवीर सिंह, हरियाणा के सोनीपत जिले के पलड़ा गांव निवासी अक्षय पहलवान पुत्र अजीत सिंह जाट और फाजिल्का जिले के गांव शेरेवाला निवासी अंकित भादू पुत्र शिवप्रकाश भादू शामिल है। पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपी कई वारदातों में वांछित है,जिनकी तलाश पुलिस कर रही है। आरोपी हरदीप गैंगस्टर लॉरेंस के गांव का ही रहने वाला है। अक्षय पहलवान की इस गैंग में एंट्री भी छात्र संगठन सोपू के कारण हुई बताई जा रही है। 22 मई को मेटालिका जिम में जॉर्डन की हत्या करने में इन तीनों के अलावा संपत नेहरा और एक अन्य युवक शामिल रहा है। पुलिस के पास मौजूद घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज में तीन आरोपी ही दिखाई दे रहे हैं, जबकि पुलिस ने इस बार दो नए लड़कों की फोटो और सूचना सार्वजनिक कर इनाम घोषित किए हैं। पुलिस के बीते 19 दिनों के होमवर्क के बाद कई सारे नामों की सूची तैयार हुई है, जो इस वारदात से किसी न किसी तरह से जुड़े हुए हैं। इनमें से हत्या करने वालों में अक्षय पहलवान और हरदीप संधू का नाम पहली बार आया है।

शहर में रोजाना हथियारबंद नाकाबंदी, वाहनों की सख्ती से जांच ताकि कोई और आपराधिक वारदात न हो जाए 

दूसरी तरफ पुलिस शहर में सख्ती करते हुए रविवार को भी हथियारबंद नाकाबंदी के चलते चौक चौराहों पर अनेक संदिग्ध वाहनों की जांच कर रही है। इतनी सख्ती के पीछे पुलिस का आंतरिक डर भी है कि, कहीं शहर में फिरौती मांग रहे अपराधी कोई ओर बड़ी वारदात को अंजाम न दे जाएं। पुलिस ने बताया कि सख्ती के चलते वाहन चालक अपने साथ वाहन संबंधी दस्तावेजों और स्वयं की भी कोई आईडी साथ लेकर घर से निकले। जिससे पुलिस जांच के दौरान उन्हें किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। 

हरदीप लाहोरिया लॉरेंस के ही गांव का शूटर, सोनीपत का अक्षय पहलवान सोपू संगठन के कारण आया इस गैंग में, अंकित भादू, अक्षय पहलवान और हरदीप लाहोरिया पर इनाम घोषित है। 

50 पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में पंचकूला लाए गैगस्टर संपत को

गैगस्टर संपत नेहरा को हाई सिक्योरिटी के बीच रविवार को पंचकूला लाया गया। नेहरा को लाने के लिए 7 गाड़ियां व एसटीएफ समेत 50 पुलिसकर्मियों का जाब्ता मौजूद रहा। उसे देर रात सेक्टर पांच के थाने लाया गया। पंचकूला कोर्ट में पेश कर 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया। संपत को एसटीएफ आईजी सौरभ सिंह की टीम ने आंधप्रदेश से गिरफ्तार किया था।  

आपको बता दें कि पकड़ा गया शार्प शूटर संपत नेहरा राजस्थान के चूरू जिले के राजगढ़ का रहने वाला है इस पर सात हत्याओं के मुकदमे व दर्जनों फिरौती के मामले दर्ज है। यह चंडीगढ़ के रिटार्यड एएसआई का बेटा है और सेक्टर 10 के डीएवी स्कूल में पढ़ाई पूरी की है। 2016 में पहली बार मुकदमा होने पर पंचकूला में इसकी लॉरेन्स विश्नोई के साथ मुलाकात हुई और वहीं से यह अपराध की दुनिया में कदम रखता गया।

कबड्डी का नेशनल प्लेयर रहा है 

श्रीगंगानगर पुलिस ने जॉर्डन मामले में पकड़े काका पिस्तोली ने पूछताछ में बताया कि, "गैंग धमकियां देने के लिए इंटरनेशनल नम्बरों का इस्तेमाल करती है। जिसके लिए रूस की सिम काम में ली जाती है।" पुलिस गैंग को इंटरनेशनल सिम उपलब्ध करवाने वालों को भी नामजद करने की कार्रवाई कर रही है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जॉर्डन हत्याकांड मामले में पिछले दिनों गैंगस्टरों को शरण देने सहयोग देने व जरूरत का सामान उपलब्ध करवाने के मामले में सोपू के सदस्य रिडमलसर निवासी काका पिस्तोली को गिरफ्तार किया था,जो पुलिस रिमांड पर चल रहा था। आरोपी को अदालत में पेश किया जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------