सदर थाना बना सुव्यवस्थित आदर्श थाना

Published Date 2018/07/03 06:31, Written by- FirstIndia Correspondent

जैसलमेर। पुलिस के लिए आदर्श थाने अब बीते जमाने की बात हो गई थी। लेकिन सीमावर्ती जिले का सदर पुलिस थाना आजकल अपनी सुव्यस्थित होने के कारण चर्चाओं में है। आज कल थाने में जाने वाले हर कोई फरियादी थाने की तारीफ करने बिना नहीं रहता है। थाने को देखने पर नहीं लगता है की हम पुलिस थाने आ गए है बल्कि लगता है कोई आलीशान गेस्ट हाउस में आ गए है। यह सब हुआ है पुलिस अधीक्षक गौरव यादव और सदर पुलिस थानाधिकारी के अथक प्रयासों से जो थाने को स्मार्ट पुलिस स्टेशन बनाया गया है । 

सीमावर्ती जिले जैसलमेर में जिन परिस्थितियों ने पुलिस के ड्यूटी करना भी किसी चेलेंज से कम नहीं होता है, जिन हालात मे पुलिसकर्मी रहते है। उन हालातो में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देकर पुलिस थाने को स्मार्ट बनाना काफी बड़ी बात है।  जैलसमेर सदर थाने में  आने वाले परिवादियों को भी कई थानों में कई प्रकार की परेशानियो का सामना करना पड़ता हे। इन्ही सभी स्थितियों को देखकर सदर थाना अधिकारी ने जैसलमेर के सदर थाने जो की नए भवन में स्थानांतरित हो गया हे का रूप बदल कर रख दिया। 

जैसलमेर पुलिस अधीक्षक गौरव यादव के निर्देशन में कांता सिंह ढिल्लो के अथक प्रयासों से नए सदर थाने में कार्य करने वाले सिपाहियों व आने वाले परिवादियों के लिए हरसंभव आरामदायक व अच्छे माहौल में कार्य करने के लिए सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है। जिसमे सभी कक्षों के ऊपर कार्य करने वाले कर्मचारियों के नेम प्लेट्स , सभी का कार्य क्षेत्र ,मोबाइल नंबर ,वातानुकूलित कक्ष, हरा भरा कम्पाउंड, मेस आदि कई सुव्यवस्थित कार्य करवाए गए है । कांता सिंह ने हाल ही में सदर थाना अधिकारी का पद भार ग्रहण किया है  व उनका कहना है अगर कार्य स्थल का माहौल अच्छा होगा तो कार्य करने की ऊर्जा में भी बढ़ावा मिलेगा। आने वाले परिवादियों को भी उचित माहौल में जल्द से जल्द शिकायत दूर करने के प्रयास भी किये जायेंगे। सभी पुलिस अधिकारियो व् पर्यटन नगरी के निवासियों को सदर थाना देखना चाहिए जिससे आमजन में विश्वास व अपराधियों में डर वाली कहावत चरितार्थ होती दिखे।  
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

25727