छबड़ा कस्बे की सुरक्षा खतरे में, एक माह में 10 लोगों के स्थानान्तरण

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/06/20 01:10

छबड़ा (बारां)। बारां जिले में पुलिस प्रशासन की हठधर्मिता के चलते लोगों की सुरक्षा भगवान भरोसे हैं। इसका ताजा उदाहरण छबड़ा थाने में देखने को मिला, जिसमें एक साथ 10 लोगों का स्थानान्तरण कर दिया गया।

गौरतलब है कि छबड़ा कस्बा अति संवेदनशील क्षेत्र कहलाता है, इसके बावजूद भी बारां जिला पुलिस प्रशासन द्वारा गत एक माह में छबड़ा थाने के 9 से 10 लोगों का स्थानांतरण कर दिया। वहीं थाने में स्टाफ की कमी हो गई है, जिससे पुलिस जवानों और अधिकारियों को काम के दबाव में 24-24 घंटे ड्यूटी करनी पड़ रही हैं। वैसे ही थाने में हमेशा जवानों के स्टाफ का टोटा रहता हैं, ऐसे में एक साथ 10 लोगों के स्थानान्तरण के बाद दूसरे जवानों और अधिकारी की नियुक्ति नहीं होने से परेशानी ओर बढ़ गई।

दूसरी ओर कोटा आईजी विशाल बंसल द्वारा 3 माह पूर्व छबड़ा में ट्रैफिक पुलिस के लिए 4 जवानों की नियुक्ति की घोषणा केवल थोथी साबित हुई। ऐसे में अब यह सवाल उठता है कि स्टाफ की कमी के चलते क्षेत्र में होने वाले अपराधों और लोगों की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन किस तरह से पार पाएगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

क्या है रसोई घर के गलत दिशा मे बने होने के दुष्प्रभाव ? जानिये पंडित मुकेश शास्त्री से

Rajasthani Special : विजय माल्या और नीरव मोदी पर सुपिरियर सेढू के राजस्थानी चुटकुले
राजूपत समाज का चुनाव में कांग्रेस का साथ देने का किया ऐलान
90 प्रतिशत जाट समाज के वोटर्स कांग्रेस के साथ : बद्रीराम जाखड़, कांग्रेस नेता
तेजादशमी में \'जाट गौरव मार्च\', समाज की कई हस्तियों ने की शिरकत
डूंगरपुर के सागवाड़ा में महासंकल्प रैली को करेंगे संबोधित, गहलोत, पायलट और जोशी रहेंगे मौजूद
राजस्थान के रण में आ रहे राहुल गांधी, डूंगरपुर के सागवाड़ा में महासंकल्प रैली को करेंगे संबोधित
जानिए फ्लाइट में ऐसा क्या हुआ जो यात्रियों के कान-नाक से निकला खून