सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग में चल रहा है सेल्फी हाजरी का पाठ

Published Date 2018/06/15 03:46,Updated 2018/06/15 08:11, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। सरकारी कार्यालयों में समय पर नहीं पहुंचना और अपने तरीके से नौकरी करने वाले सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के उन अधिकारियों और कर्मचारियों को इन दिनों सेल्फ़ी हाजरी का एक ऐसा पाठ विभाग के निदेशक डॉक्टर समित शर्मा ने पढ़ाया है कि अब उन्हें नियमित रूप से समय पर ऑफिस आ कर काम करना ही होता है। सेल्फी हाजरी का जो नया नियम सरकार से अनुमति लेकर बनाया है उसकी पालना पहले स्वयं डॉक्टर समित शर्मा करते हैं। उसके बाद ऑफिस पहुंचते ही पहले इसी बात की मॉनिटरिंग की जाती है कि समय पर ऑफिस कौन पहुंचा और कौन नहीं।

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी डॉक्टर समित शर्मा ने सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के निदेशक का दायित्व संभालने के साथ ही पहले चरण में सरकार की योजनाओं का लाभ हर जरूरतमंद को दिलाने की पहल की तो वही उसके बाद उन्होंने विभाग के अधिकारियो और कर्मचारियों को निर्धारित समय पर दफ्तर पहुंचने की आदत डालने के लिए पूरे प्रदेश के जिला अधिकारियों और छात्रावास अधीक्षकों का WhatsApp ग्रुप बनाया। जिसमें निर्धारित किया गया कि हर अधिकारी 9:30 बजे से पहले ऑफिस पहुंचकर अपनी सेल्फी ऑफिस में ही खींचकर ग्रुप में डालेंगे जो भी देरी से आएगा वह उसका कारण बताएगा और लगातार कोई लापरवाही बरतता नजर आएगा तो उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

उसका असर यह हुआ कि अधिकारियों के साथ साथ कर्मचारी फटाफट दफ्तर पहुंचने लगे और पूरे प्रदेश के हर सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के कार्यालय और छात्रावासों में समय की प्रतिबद्धता के कारण सेल्फी हाजरी साकार होती नजर आने लगी, अब तो पूरे प्रदेश भर में इसे लेकर विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों में समय पर दफ्तर पहुंचने को लेकर प्रतिस्पर्धा सी बन गई है। सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के उप निदेशक अनिल व्यास ने बताया कि सेल्फी हाजिरी के चलते अधिकारी और कर्मचारी समय पर ऑफ़िस आने लगे हैं काम का और अधिक बेहतर माहौल हो गया है और तो और खुद हमारे निदेशक समित शर्मा अपनी बायोमेट्रिक हाजिरी की सेल्फी ग्रुप में डालते है।

गौरतलब है कि समय की प्रतिबद्धता और अनुशासन को सबसे पहले प्राथमिकता देने वाले आईएएस अधिकारी समित शर्मा ने विभाग का कार्य सुचारु रुप से चलाए जाने के उद्देश्य से इस सेल्फी हाजरी सिस्टम को लागू किया, खुद तो हाजरी की सेल्फी डालते ही हैं लेकिन साथ ही, जिलाधिकारियों के अलावा तमाम 33 जिलों के छात्रावासों के अधीक्षक छात्रों के साथ कभी योगा करते तो कभी अखबार पढ़ते हुए या दैनिक दिनचर्या की फोटो डालते हैं इससे मॉनिटरिंग भी बेहतर तरीके से हो रही है।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

23847