खुशखबरी! स्पिनफैड धागा मिल के कर्मचारियों को मिलेगी नौकरी

Published Date 2017/08/12 12:45,Updated 2017/08/21 11:34, Written by- FirstIndia Correspondent

हनुमानगढ़| हनुमानगढ, जहां लम्बे समय से बंद पड़ी स्पिनफैड धागा मिल के बेघर हुए कार्मिकों के लिए राहत भरी व अच्छी खबर है। आपको बता दे कि सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने स्पिनफैड की बन्द पड़ी तीनों इकाइयों गुलाबपुरा, गंगापुर एवं हनुमानगढ़ के लगभग 1 हजार श्रमिकों को ले-ऑफ वेजेज का भुगतान सितम्बर, 2016 से करने के आदेश जारी कर दिये हैं तथा इसके लिए 5.07 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत कर दी है और एक सप्ताह में सभी श्रमिकों को भुगतान करने के आदेश दे दिए हैं।

श्री किलक ने बताया कि इन श्रमिकों की मांग थी कि उन्हें ले-ऑफ वेजेज का भुगतान किया जाए। राज्य सरकार ने श्रमिकों एवं उनके परिवारों के भरण पोषण एवं हित में निर्णय लेते हुए यह राशि स्वीकृत कर दी है। उन्होंने बताया कि फैडरेशन के 1099 श्रमिकों एवं 45 स्टाफ कर्मचारियों के आवेदन पर स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति दी गई है जिसके लिए 52.56 करोड़ रुपये का भुगतान स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति लेने वाले सभी श्रमिक एवं कर्मचारियों को कर दिया गया है।

सहकारिता मंत्री ने बताया कि फैडरेशन के शेष रहे योग्यताधारी 689 श्रमिकों को शिक्षा विभाग में अंतरिम व्यवस्था के लिए 6 माह तक विपरित प्रतिनियुक्ति के लिए लगाने हेतु वित्त विभाग ने स्वीकृति जारी कर दी है और शीघ्र ही शिक्षा विभाग से आदेश जारी होंगे। उन्होंने बताया कि 6 माह के दौरान शिक्षा विभाग में विपरित प्रतिनियुक्ति पर लगे श्रमिकों को सहकारी संस्थाओं, निगमों, पंचायती राज संस्थाओं एवं स्वायत्तशासी संस्थाओं में रिक्त पदों पर प्रतिनियुक्ति कर समायोजन किया जाएगा।

श्री किलक ने बताया कि 689 श्रमिकों में से 219 श्रमिकों एवं 63 स्टाफ कर्मचारियों को सहकारी संस्थाओं में प्रतिनियुक्त करने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं और उसके बाद में इनका समायोजन संबंधित संस्थाओं में कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्पिनफैड की इकाइयां बन्द होने के कारण श्रमिकों एवं परिवारजनों की आजीविका का संकट खड़ा हो गया था, इसको ध्यान में रखते हुए शिक्षा विभाग में अंतरिम व्यवस्था के तहत श्रमिकों को लगाया जा रहा है ताकि उनको वेतन मिल जाए एवं परिवार का भरण पोषण सुचारू रूप से हो सके।


वहीं साथ ही यह भी कहा कि जब भी किसी कि नौकरी बदलती हैं तब अनगिनत लोगों के खाते नौकरी बदलने से बंद हो जाते हैं जिससे कर्मचारियों को अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर कर्मचारियों को एक बार फिर अपना पीएफ खाता खुलवाना पड़ता था। हालांकि इस नई योजना के अंतर्गत आधार कार्ड को पीएफ खाते से जोड़ना ज़रूरी है।

 


 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------