मुनान का परिवार कुपवाड़ा का रहने वाला है और उसका भाई जूनियर इंजीनियर है। मुनान के पिता का नाम बशीर अहमद वानी है और वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के ताकिपोरा गांव का रहने वाला है। पिछले साल ही मुनान ने अपने गृह नगर उत्तर कश्मीर में आई बाढ़ के बाद जीआईएस तकनीक और रिमोट सेंसिंग को लेकर अपनी रिपोर्ट समिट की थी, जिसके लिए उसे पुरस्‍कार भी मिला था।

गौरतलब है कि गत वर्ष अक्‍टूबर में फुटबॉल खिलाड़ी माजिद इरशाद खान भी एक आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ। अक्टूबर के आखिरी दिनों में 20 वर्षीय खिलाड़ी लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो गया। खिलाड़ी के दोस्त और परिवार वाले इससे बेहद परेशान और चिंतित हैं। माना जा रहा है कि खिलाड़ी अपने दोस्त यावर निसार शेरगुजरी के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के बाद आतंकवादी संगठन में शामिल ​हो गया था।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/Student-of-PHD-from-AMU-joins-Hizbul-Mujahideen-1143095061", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ AMU से PHD का छात्र, हथियार समेत वायरल हुई तस्वीर", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ AMU से PHD का छात्र, हथियार समेत वायरल हुई तस्वीर

Published Date 2018/01/08 11:46, Written by- FirstIndia Correspondent

श्रीनगर। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक पीएचडी के छात्र के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने की खबर है। खबर है कि यूनिवर्सिटी में एप्लाइड जियोलॉजी में पीएचडी कर रहा छात्र मुनान बशीर वानी ने मुजाहिदीन ज्वॉइन किया है, जिसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में मुनान के हाथ में एके-47 राइफल दिखाई दे रही है। बता दें कि मुनान पिछले कुछ दिनों से लापता था, जिसने हाल ही में यूनिवर्सिटी छोड़ दी थी।

जानकारी के मुताबिक, मनान वानी पिछले पांच साल से एएमयू में पढ़ रहा था। वह एम फिल कर रहा था। वह अब जिऑलजी में पीएचडी कर रहा था। वह यूनिवर्सिटी से घर नहीं आया। दो दिन पहले राइफल के साथ उसकी फोटो फेसबुक पर वायरल हो गई जिसमें लिखा था कि उसने 5 जनवरी को हिजबुल जॉइन कर लिया। सोशल मीडिया में वायरल हो रही फोटो में उसे अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर के साथ देखा जा सकता है।

वानी के भाई का कहना है कि हम लोगों ने भी सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर उसकी तस्‍वीर देखी है, लेकिन हमें अभी इस बारे में कुछ पता नहीं है कि वह आतंकी संगठन में शामिल हुआ है या नहीं। हम 4 जनवरी से ही उससे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अभी तक उससे कोई सम्पर्क नहीं हो पा रहा है। उसका मोबाइल लगातार बंद आ रहा है और ऐसे में हमने शनिवार 6 जनवरी को पुलिस में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी है।

मुनान का परिवार कुपवाड़ा का रहने वाला है और उसका भाई जूनियर इंजीनियर है। मुनान के पिता का नाम बशीर अहमद वानी है और वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के ताकिपोरा गांव का रहने वाला है। पिछले साल ही मुनान ने अपने गृह नगर उत्तर कश्मीर में आई बाढ़ के बाद जीआईएस तकनीक और रिमोट सेंसिंग को लेकर अपनी रिपोर्ट समिट की थी, जिसके लिए उसे पुरस्‍कार भी मिला था।

गौरतलब है कि गत वर्ष अक्‍टूबर में फुटबॉल खिलाड़ी माजिद इरशाद खान भी एक आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ। अक्टूबर के आखिरी दिनों में 20 वर्षीय खिलाड़ी लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो गया। खिलाड़ी के दोस्त और परिवार वाले इससे बेहद परेशान और चिंतित हैं। माना जा रहा है कि खिलाड़ी अपने दोस्त यावर निसार शेरगुजरी के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के बाद आतंकवादी संगठन में शामिल ​हो गया था।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------