कलयुग को लेकर पुराणों में की गई है चौंकाने वाली भविष्यवाणियां

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/11 11:11

नई दिल्ली। हिंदू धर्म में ब्रह्मा और विष्णु पुराण की कई मान्यताएं हैं, जिनमें पुराणों के मुताबिक कलयुग खत्म होने के बाद दुनिया समाप्त हो जाएगी। विष्णु पुराण में ऐसी कई परिस्थितियां लिखी हैं, जिनसे पता चल जाएगा कि सृष्टि अपने अंत के करीब है। आज हम आपको बताते है कि गरुड़ पुराण के मुताबिक, जब कलियुग का अंत होगा तो सृष्टि में किस तरह के बदलाव आएंगे।

1. कलयुग- हिंदू धर्म के अनुसार जीवन चक्र 4 अवधियों में चलता है. सतयुग, त्रेतायुग, द्वापरयुग और कलयुग । ऐसा माना जाता है कि हर अवधि को पूरा करने के बाद दुनिया का नाश हो जाता है।

2 . तराजू- इसके अनुसार हर युग में धर्म और कर्म की पवित्रता खत्म होती जाती है। ब्रह्मा और विष्णु पुराण के अनुसार इंसान स्वयं ही सृष्टि के विनाश का कारण बनेगा।

3. त्रिदेव की तस्वीर- हिंदू धर्म के अनुसार कुछ चीजें पहले से ही तय की गई हैं. जैसे भगवान विष्णु सृष्टि को उत्पन्न और भगवान शिव सृष्टि को समाप्त करने का उत्तरदायित्व हैं।

4. पुराण- ब्रह्म पुराण, विष्णु पुराण और भविष्य पुराण की भविष्यवाणियों से लेकर गरुड़ पुराण में कर्म और उनके परिणाम तक बहुत कुछ हमारे सामने लाया जा चुका है। लेकिन ये भविष्यवाणियां सुनकर शायद आप बिल्कुल चौंक जाएंगे।

5. समय चक्र- मन्यताओं के अनुसार कलियुग सबसे आखिरी युग है इसलिए हमें अपने सभी कर्मों का फल इसी युग में भुगतना पड़ेगा. जब कलियुग की समाप्ति होगी तो निश्चित रूप से चौंकाने वाली चीजें धरती पर घटित होंगी । बेमौसम बारिश, आंधी-तूफान, जल संकट ये सभी संकेत हैं।

6. जीवन छोटा होगा- इसके अनुसार जैसे-जैसे कलयुग अंत कि ओर बढ़ेगा मनुष्य का जीवन मात्र 12 वर्ष तक रह जाएगा और शरीर 4 इंच सिकुड़ जाएगा।

7. कल्कि का अवतार- ब्रह्मा और विष्णु पुराण में लिखा हुआ है कि एक समय ऐसा आएगा जब ये सृष्टि नफरत और भयानक कृत्यों में लिप्त हो जाएगी। हर तरफ युद्ध का माहौल होगा तभी पृथ्वी पर भगवान विष्णु कल्कि का अवतार लेंगे।

8. भावनाएं मर जाएंगी- पृथ्वी जब विनाश के करीब होगी तब हर जगह का पानी रहस्यमयी तरह से सूखने लगेगा। इसके अलावा किसी के भीतर भावनाएं नहीं रह जाएगी. मां, बाप, गुरु किसी के लिए भी इंसान के दिल में कोई भावना नहीं रहेगी।

9. पैसे का मोह- लोगों के लिए पैसा इतना आवश्यक हो जाएगा कि उसके लिए वो किसी का हत्या भी करने को तैयार हो जाएगा।

10. गंगा नदी उल्टी बहेगी- हिंदु मान्यताओं के अनुसार कलियुग के 5,000 साल बाद पवित्र गंगा नदी उल्टी बहने लगेगी और वापस बैकुंठ लौट जाएगी. साथ ही कलयुग के 10,000 साल बाद सभी देवी-देवता पृथ्वी लोक को छोड़कर जाने लगेंगे। 

11.धरती बंजर हो जाएगी-कलयुग का अंत आते-आते पृथ्वी पूरी तरह बंजर हो जाएगी। ना धरती पर फिर कोई फसल उग सकेगी और ना ही फूलों से धरती लहलहा सकेगी. पृथ्वी पर रहने वाले जीव-जंतु तक निर्जीव हो जाएंगे।

12. इंसानियत खत्म हो जाएगी- कलयुग के 20,000 साल बाद इंसानियत की निर्मम हत्या होने लगेगी. पैसै और सत्ता के लिए मां- बेटे तक एक-दूसरे के अंत का कारण बनेंगे। लोग एक-दूसरे के खून के प्यासे हो जाएंगे।

13. आतंकवाद बढ़ जाएगा- कलयुग में आतंकवाद अपने चरम पर होगा, तब भगवान विष्णु कल्कि अवतार लेकर धरती पर जन्म लेंगे। मान्यता के अनुसार वो 1000 हाथी के जोड़ों से भी ज्यादा ताकतवर होंगे और वो पृथ्वी को आजाद कराने में तीन दिन का समय लगेगा।

14. 12 सूर्य उगेंगे- कलयुग के अंतिम 5 साल में पृथ्वी पर मूसलाधार बारिश होगी. कलयुग की अंतिम रात सबसे लंबी होगी, जिसके बाद एक साथ 12 सूरज उगेंगे और तब तक चमकेगें जब तक वो धरती का सारा पानी सोख नहीं लेंते। यहां 12 सूर्यों का अर्थ पृथ्वी के बढ़ते तापमान से माना जा सकता है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

Private video

Rajasthan Gaurav Yatra | झुंझुनू, बुहाना में CM Vasundhara Raje का संबोधन
रावणा राजपूत समाज के मान-सम्मान की करेंगे रक्षा : सचिन पायलट
मूलांकअनुसार क्या कहता है राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और संगठन महासचिव अशोक गहलोत का भविष्य
जीका वायरस की दस्तक पर चिकित्सा विभाग अलर्ट, जाने क्या है ज़ीका वायरस
खंडेला विधानसभा का क्या है सियासी मिजाज ? | चुनावी यात्रा
CM राजे की बानसूर सभा में हंगामा, सिक्योरिटी ने संभाले हालात