विकास के नाम पर फर्जीवाड़ा कर चला घोटालों का खेल

Published Date 2018/05/26 03:18, Written by- FirstIndia Correspondent

जालोर। जालोर की चितलवाना पंचायत समिति के देवड़ा ग्राम पंचायत में सन् 2011-12 में घोटालों का बड़ा खेल चला। अब तत्कालीन सरपंच के घोटालों का पर्दाफाश होने के साथ ही गिरफ्तारी की तलवार तत्कालीन सरपंच पर लटक रही है। लेकिन तत्कालीन सरपंच का रसूख जेल जाने से तत्कालीन सरपंच को लगातार बचा रहा हैं।

जालोर जिले के चितलवाना पंचायत समिति के देवड़ा ग्राम पंचायत में तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन ने विकास के नाम पर लाखों का बजट उठाया लेकिन मौके पर विकास के नाम पर सिर्फ और सिर्फ फर्जीवाड़ा ही किया गया। तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन ने बड़े घोटाले को अंजाम देने के लिए फर्जी मस्टररोल तैयार कर फर्जी तरीके से मजदूरों के नाम मस्टरोल में भरकर बड़ी राशि उठा ली। वही टांका निर्माण पाइप लाइन, ओर चारदीवारी निर्माण के नाम पर जमकर घोटाला करते हुए लाखों का बजट ग्राम सेवक की मिलीभगत से उठा लिया। लेकिन मौके पर कुछ भी काम नहीं किया।

जब इसकी भनक तत्कालीन उपसरपंच गिरधारीराम को लगी तब गिरधारीराम ने घोटाले का खुलासा करने को लेकर सूचना अधिकार के तहत घोटाले की दस्तावेज बाहर निकालें जिसमें चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है। तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन ने विकास के नाम पर ग्राम सेवक से मिलीभगत कर लाखों के बड़े घोटाले को अंजाम दिया। तत्कालीन उप सरपंच ने झाब पुलिस थाने में FIR भी दर्ज कराई जिसमें पुलिस से लेकर सीबीसीआईडी तक मामले की जांच की गई लेकिन नतीजा यही रहा की तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन लाखों के घोटाले को अंजाम देने के बाद भी अभी भी गिरफ्त से दूर है। फाईल हर बार गिरफ्तारी तक पहुंचने पर अपने रसूख का इस्तेमाल करते हुए जांच अधिकारी बदलवाकर जांच के नाम पर फाइल को कभी इधर तो कभी उधर घूमा रहा है।

देवड़ा ग्राम पंचायत के तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन ने लाखों के गबन के लिए बाड़मेर जिले के मजदूरों के नाम मस्टररोल में बता कर मजदूरो का भुगतान उठाया वही कई जगह एक ही दिन में एक ही मजदूर के नाम कई जगह पर कई मस्टररोल में चलाकर बड़े फर्जीवाड़े को अंजाम दिया। पुलिस से लेकर सीबीसीआईडी तक मामले की जांच कर चुकी है जिसमें तत्कालीन सरपंच पुखराज जैन को घोटाले का दोषी मानते हुए गिरफ्तारी की अनुशंसा की गई लेकिन तत्कालीन सरपंच जेल की सलाखों से दूर है पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए जांच के नाम पर अभी ओर फाइल लंबित पड़ी हुई है।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------