ट्रंप की फटकार के बाद अमेरिका ने रोकी 1600 करोड़ रुपए की सैन्य मदद, पाक ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

Published Date 2018/01/02 12:27, Written by- FirstIndia Correspondent

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फटकार के बाद अमेरिका ने पाक की दी जाने वाली 1624 करोड रुपए की सैन्य मदद को रोक दिया हैै। वहीं इस सैन्य मदद को रोके जाने से बौखलाए पाक ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। बता दें कि ट्रंप ने पिछले साल एशिया-पैसिफिक और दक्षिण एशिया के लिए नई नीति की घोषणा की थी, जिसमें पाकिस्‍तान को स्‍पष्‍ट शब्‍दों में आतंकियों के पनाहगाह को खत्‍म करने या फिर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी। इसी दिशा में अमेरिकी सरकार ने फंड रोक कर पाक के खिलाफ महत्‍वपूर्ण कदम उठाया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के धमकी भरे ट्वीट के बाद अमेरिकी सरकार ने आतंकवाद रोकने के लिए पाकिस्तान को दी जा रही फंडिंग को रोकने का न सिर्फ फैसला किया है, बल्कि पाकिस्तान को सैन्य मदद के रूप में दी जाने वाली 255 मिलियन डॉलर (करीब सवा 1600 करोड़ रूपये) की फंडिंग को रोक कर तगड़ा झटका दिया है। व्हाइट हाउस की ओर से इसकी पुष्टि की गई है, जिसमें कहा गया है कि ऐसी सहायता इस बात पर निर्भर करेगी कि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर आतंकवाद का किस तरह जवाब देता है।

गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर अमेरिका को झूठ और धोखे के सिवाय कुछ नहीं देने की बात कही थी। इसके साथ ही ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था कि पिछले 15 सालों में 33 अरब डॉलर की सहायता देने के बदले में पाकिस्तान ने आतंकवादियों को पनाह देने का काम किया है। ट्रंप के इस ट्वीट के बाद ही अमेरिकी सरकार ने एक्शन मोड अख्तियार किया और पाकिस्तान को दिए जाने वाले फंड पर रोक लगा दी।

वहीं दूसरी ओर, अमेरिकी सरकार की ओर से 255 मिलियन डॉलर की फंडिंग रोके जाने से बोखलाए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्‍बासी ने आनन-फानन में राष्‍ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की आपात बैठक बुलाई है। प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्‍बासी ने बुधवार 3 जनवरी को एनएससी की आपात बैठक बुलाई है। इसमें डोनाल्‍ड ट्रंप के सख्‍त रुख के बाद भविष्‍य की रणनीति तय की जाएगी। 

बैठक में पीएम के अलावा विदेश मंत्री, गृहमंत्री, रक्षा मंत्री और तीनों सेना के प्रमुख हिस्‍सा लेंगे। पाकिस्‍तानी अखबार ‘द‍ एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून’ के मुताबिक, पाकिस्‍तान ने अमेरिकी राजदूत डेविड हेल को तलब कर राष्‍ट्रपति ट्रंप के बयान पर आपत्ति जताई है। गौरतलब है कि अमेरिका पाकिस्‍तान को आर्थिक मदद देने वाला सबसे बड़ा देश है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------