VIRAL : अब अटलजी की मौत को लेकर खड़ा हो रहा बड़ा 'बखेड़ा'!

Pawan Tailor Published Date 2018/08/18 05:41

जयपुर पवन टेलरभाजपा के जनसंघ से लेकर देश की सबसे बड़ी पार्टी बनने तक के सफर में सबसे बड़ा एवं महत्वपूर्ण किरदार अदा करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के निधन को लेकर देशभर में हर कोई गमज़दा है। चाहे बात सत्तारूढ़ भाजपा की हो या फिर राजनीति में धुर विरोधी माने जाने वाले ​विपक्ष की सभी पार्टियों के तमाम नेताओं की, हर कोई अटलजी से काफी प्रभावित रहा है। ऐसे में लोगों में अटलजी को खोने का अफसोस होना लाजमी भी है। इन सबसे इतर सोशल मीडिया में वायरल हो रही एक नई कानाफूसी अटलजी की मौत पर 'बखेड़ा' खड़ा करती दिख रही है।

दरअसल, सोशल मीडिया में एक खबर वायरल हो रही है, जिसमें कथित रूप से BBC हिंदी का हवाला दिया गया है। इस खबर में वाजपेयी की एक अंतिम फोटो के साथ कहा जा रहा है कि, 'पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की यह तस्वीर BBC हिंदी के अपने ऑफिशियल फेसबुक एवं इंस्टाग्राम पर ख़बर के साथ शेयर की गई थी। कुछ लोगों ने दलीलों के साथ वाजपेयी की पार्थिव देह के इतना ज्यादा काले हो जाने पर सवाल करना शुरू किया।'

इस मैसेज में कहा जा रहा है कि, 'अगर मौत 16 अगस्त की शाम को हुई थी तो डेडबॉडी पर किसी भी तरह का लेप लगाने की ज़रूरत नहीं पड़ती। क्योंकि जब अंतिम संस्कार 24 से कम घंटे में करना हो तो लाश को प्रिज़वर्ड करने की ज़रूरत कभी नहीं पड़ती। कुछ लोगों ने कहा कि वाजपेयी की मृत्यु 14-15 अगस्त की आधी रात में हो चुकी थी और सोशल मीडिया पर खबरें भी तैरने लगी थी।'

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस मैसेज में लिखा गया है कि, 'कुछ बेहद विश्वस्त सूत्रों की मानें तो वाजपेयी का देहांत 12 अगस्त की रात को ही हो चुका था, लेकिन नरेंद्र मोदी के लाल किले वाले भाषण की वजह से ख़बर छुपाई गई। ज़ाहिर है वाजपेयी की मौत की ख़बर मोदी के भाषण पर भारी पड़ती और मीडिया मोदी के लच्छेदार भाषण को नहीं दिखा पाती। अगर ऐसा है तो ये अफ़सोसजनक है।' इन तमाम बातों के साथ ही सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस मैसेज के अंत में यह भी लिखा गया है कि, 'इसके बाद BBC हिंदी ने फेसबुक तथा इंस्टाग्राम से अटल बिहारी वाजपेयी की यह तस्वीर हटा ली।'

सोशल मीडिया और नेटवर्किंग साइट्स पर वायरल हो रहे इस मैसेज को लेकर जब इंटरनेट पर पड़ताल की गई तो बीबीसी अथवा किसी और साइट पर ऐसी कोई तस्वीर अथवा कंटेट कहीं भी नजर नहीं आ रहा है। वहीं बीबीसी हिन्दी के ऑफिशियल फेसबुक एवं इंस्टाग्राम अकाउंट और उसकी साइट पर भी ऐसा कोई कंटेट या फोटो उपलब्ध नहीं हो पाया। ऐसे में हो सकता है कि वायरल हो रहे इस मैसेज को सोशल मीडिया के माध्यम से कभी भी, कहीं भी और किसी भी विषय पर बिना बात के बड़ा बखेड़ा खड़ा कर देने वाले लोगों ने ही इस मैसेज को वायरल किया हो।

हालांकि यह बात भी बेहद ही निंदनीय और शर्मनाक है कि सोशल मीडिया का दुरूपयोग करने वालों द्वारा किसी भी मसले में बखेड़ा खड़ा कर देने का विषय भी नहीं देखा जाता। इससे भी अफसोस की बात यह है कि ऐसा करने वालों द्वारा इस बात को भी नजरअंदाज कर दिया जाता है कि जिस विषय पर कोई पोस्ट अथवा मैसेज वायरल किया जा रहा है​, वह विषय अथवा व्यक्ति देशभर के लोगों के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ा है। ऐसे में आवश्यक है कि सोशल मीडिया में वायरल होने वाले किसी भी मैसेज, पोस्ट अथवा फोटो को लेकर भावनात्मक और इंसानियत के नाते से भी सोच लिया जाए।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

Big Fight Live | राजपूत VS राजपूत ! | 16 OCT, 2018

\'बंदूकबाज\' आशीष पांडे के खिलाफ कसने लगा कानूनी शिकंजा, गैर-जमानती वारंट जारी
मेरठ: आर्मी का जवान निकला PAK का जासूस, ISI को भेजी जानकारी
J&K: श्रीनगर में एनकाउंटर में लश्कर कमांडर सहित 3 आतंकी ढ़ेर, एक जवान भी शहीद
Kerala Sabarimala temple: हालात हुए बेकाबू, मीडिया को बनाया गया निशाना
पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी
अष्टमी और नवमी के दिन किया जाने वाला कन्या पूजन किस विधि के द्वारा किया जाये ?
Big Fight Live | शर्तों के मेह\'मान\' ! | 16 OCT, 2018