राजस्थान के किसानों का कर्जा माफ करवाकर ही रहेंगे : राहुल गांधी

Published Date 2017/07/19 06:48, Written by- Dinesh Kumar Dangi
+5
+5

बांसवाड़ा/जयपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज राजस्थान के बांसवाड़ा में आयोजित किसान सम्मेलन में राज्य एवं केन्द्र की भाजपा सरकार पर जमकर निशाने साधे हैं। राहुल ने कहा कि आज सुबह यहां आने से पहले मैं लोकसभा में था। लोकसभा में कांग्रेस ने चर्चा के लिए समय मांगा था। हम किसानों के दर्द के बारे में लोकसभा में बात रखना चाहते थे, लेकिन लोकसभा में आज किसानों की मांग नहीं उठाई जा सकी। उन्होंने कहा कि जीएसटी पर संसद को रात को खोला जा सकता है, लेकिन किसानों के मुद्दे पर एक मिनिट बात नहीं करने दिया जा रहा है।

राहुल गांधी ने कई उन किसानों के परिजनों से मुलाकात की, जिन्होंने हाल ही में आत्महत्या की है। 5 मृतकों की पत्नियां अपने 6 माह से एक लेकर वर्ष तक के बच्चों को लेकर सभास्थल पर पहुंची, जिन्होंने रा​हुल को बताया कि आत्महत्या के बाद कई परिवारों में कोई कमाने वाला नहीं बचा है। सभा के पूर्व राहुल गांधी को कांग्रेस नेताओं ने आदिवासी वेशभूषा पहनाकर उनका स्वागत किया और हल व तीर-कमान भेंट किए।

किसान आक्रोश रैली को सम्बोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की सेना ने अंग्रेजों को हराया है। यह आरएसएस और बीजेपी से डरने वाले नहीं हैं। हम चाहते हैं कि हिन्दुस्तान हर किसान का दुःख लोकसभा में उठाएं, लेकिन लोकसभा में हमें बोलने नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के लिए आधी रात तक लोकसभा आ सकते हैं, लेकिन किसानों मुद्दे पर चर्चा के लिए इनके पास वक़्त ही नहीं है। प्रधानमंत्री ने कहा था कि कांग्रेस ने किसानों और युवाओं के लिए कुछ नहीं किया, अब मैं करूंगा। मैंने यूपी और अन्य जगह दौरा करके किसानों की मांग उठाई। सरकार किसानों के कर्जे माफ करें। बिजली के बिल माफ करें। फसल का पूरा मूल्य दें। कांग्रेस ने 2 करोड़ लोगों से पत्र लिखवाकर पीएम को भेजे और मांग की है कि किसानों के कर्जे माफ करो, लेकिन नहीं किया। जबकि पंजाब में सरकार ने कर्जा माफ कर दिया है। भाजपा सरकार वाले राज्य नहीं कर रहे हैं।

राहुल ने कहा कि सचिन पायलट आप इन नोजवानों के साथ खड़े हो जाइए, सरकार पर दबाव बनाइए और किसानों का कर्जा माफ करवा दीजिए। राहुल ने कहा कि हमने सरकार को कहा था कि वह जो जीएसटी ला रही है, उससे किसानों और आम लोगों को नुकसान होगा, लेकिन हमारी बात नहीं सुनी गई। आज छोटे व्यापारी सुन लें, मोदी सरकार ने उनके ऊपर टेक्स डिपार्टमेंट थौप दिया है। उनके पास सरकार के नियमों को मानने की शक्ति नहीं है। सरकार ने एक तरह से कह दिया है कि छोटे व्यापारी मर जाओ। हम तो देश के 10-15 व्यापारियों के अनुसार देश चलाएंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के 70 हजार करोड़ का कर्जा माफ किया, क्योंकि कांग्रेस किसानों का दर्द समझती है। नरेन्द्र मोदी हर जगह मेक इन इंडिया की बात करते हैं, लेकिन किसानों की बात नहीं करते हैं। युवाओं को रोजगार नहीं दिया, जबकि 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का चुनावी वादा किया गया था। भाजपा सरकार में किसान, युवा, मजदूर, आदिवासी किसी का भला नहीं हो रहा है। केवल कुछ बड़े उद्योगपतियों का भला हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार किसानों का कर्जा माफ नहीं करेगी, तब तक कांग्रेस सरकार के किसी मंत्री को सोने नहीं देगी। इसके लिए लोग मुझे कहीं भी बुलाए मैं आने के लिए तैयार हूं।

सभा को सम्बोधित करते हुए पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने कहा कि भाजपा की सरकार लाठी गोली की सरकार है। प्रदेश में एक के बाद एक किसान आत्महत्या कर रहे हैं, लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है। कांग्रेस किसानों के लिए लगातार संघर्ष कर रही है और ​हम सरकार को मजबूर करेंगे कि वो किसानों के कर्जे माफ करें। प्रदेश का किसान सरकार की नीतियों से परेशान है और वह भाजपा की सरकार को बदलने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों की स्थिति यह है कि आत्महत्याएं होने के बाद भी कोई मंत्री किसानों के आंसू पोछने नहीं जा रहा है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस हमेशा किसानों के दर्द के प्रति संवेदनशील रही है। इसके चलेत ही किसानों का दर्द जानने के लिए राहुल गांधी मध्यप्रदेश के मंदसौर पहुंचे थे, जहां भी उन्हें किसानों से मिलने से रोकने के पूरे प्रयास किए गए थे। उन्होंने मैं जब मुख्यमंत्री था तो विपक्ष हमला करता था, विपक्ष कहता था कि लोग भूखे मरेंगे, लेकिन मैंने कहा कि भूखे मरना तो दूर, मैं किसी को भूखा सोने नहीं दूंगा। और मैंने ऐसा किया भी है। हमारी सरकार के वक़्त 3 लाख से ज़्यादा लोगों को मनरेगा में रोजगार मिला हुआ था। राजस्थान की जनता अपना मन बना चुकी है और अब अगली बार राजस्थान में कांग्रेस की ही सरकार बनेगी, यह बात मैं आपको दावे से कह सकता हूं। राजस्थान में अब चाहे नरेंद्र मोदी आये या अमित शाह, प्रदेश की जनता अब किसी छलावे में नहीं आने वाली है। अब बीजेपी के झूठ की पोल जनता के सामने खुल चुकी है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------