भारी पड़ गया खुले में पेशाब करना, अदालत ने सुनाई 5 हजार रुपए जुर्माने की सजा

Published Date 2018/07/12 05:57,Updated 2018/07/12 06:21, Written by- Nizam Kantaliya

जयपुर (निजाम कण्टालिया)। एक ओर जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान कार्यक्रम के जरिये देश को साफ-सुथरा बनाने की मुहिम चला रखी है, वहीं जयपुर के रामगंज निवासी धर्मराज को इस मुहिम के विपरीत कार्य करना महंगा पड़ गया। धर्मराज को एक सरकारी परिसर की चारदिवारी के निकट सार्वजनिक रूप से पेशाब करना महंगा पड़ गया। इस मामले में जयपुर की महानगर मजिस्ट्रेट संख्या 23 की अदालत ने कुल 12 बार सुनवाई के बाद फैसला सुनाते हुए 5 हजार के अर्थदण्ड से दण्डित किया है।

दरअसल, जयपुर की रामगंज थाना पुलिस ने तीन माह पूर्व एक सरकारी इमारत की चारदिवारी के निकट खुले में सार्वजनिक रूप से लघुशंका करने का मामला दर्ज किया था। इस मामले में आरोपी बना रामगंज का ही एक दुकानदार धर्मराज। बाकायदा मामले में एफआईआर दर्ज भी की गई और एफआईआर के बाद मामला कोर्ट पहुंचा। कोर्ट कार्यवाही के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से सरकार ने 8 पुलिसकर्मियों के गवाह बयान करवाए। इस केस में 12 बार अदालत में सुनवाई हुई और आखिरकार महानगर मजिस्ट्रेट की जज नीरू सोनी ने फैसला सुनाते हुए 5 हजार के अर्थदण्ड से दण्डित किया है। मामले में आरोपी धर्मराज ने भी अपने जुर्म को स्वीकार करने का प्रार्थना पत्र पेश किया था।

संभवतया देश में ये पहला मामला है, जब किसी अदालत ने खुले में पेशाब करने के आरोपी को इतनी बड़ी सजा सुनाई है। अब तक ऐसे मामलों में सरकारी पक्ष जैसे जिला कलेक्टर, ग्राम पंचायत या फिर नगर निकायों की ओर से ही जुर्माना लगाया गया है, लेकिन पुलिस में एफआईआर दर्ज किये जाने के बाद अदालत में केस रजिस्टर्ड होकर सुनवाई किया जाना और फिर उस मामले में फैसला सुनाना अपने आप में एक बड़ी बात है। साथ ही यह भी है कि अब तक खुले में पेशाब करने पर किसी अदालत में मामला नही पहुंचा था।

बहरहाल, जयपुर की अदालत के इस फैसले ने पीएम नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान के प्रति आम जनता में जागरूकता का एक ओर कदम बढ़ाया है। अब ऐसे मामलों की संख्या में अदालतों में बढ़ सकती है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

26632