छत्तीसगढ़: नक्सलवाद की बढ़ती चुनौतियों के बीच CRPF ने सड़क सुरक्षा अभियानों पर लगाई रोक

Published Date 2017/04/30 12:03, Written by- FirstIndia Correspondent

छत्तीसगढ़ में चल रहे सड़क निर्माण को CRPF ने बीच में ही बंद करवा दिया है| आपको बता दे ये फैसला सुकमा में हुए नक्सली हमले के 5 दिन बाद लिया गया है| खबरों के मुताबिक ये फैसला 10-15 दिनों तक लागू रहेगा| इसके बाद बस्तर इलाके में निर्माणाधीन सड़कों की सुरक्षा से जुड़े सभी अभियान स्थगित कर दिये हैं| नक्सल-विरोधी अभियानों के स्पेशल डीजी डी एम अवस्थी ने मीडिया को बताया है कि अगले कुछ दिनों में नक्सल विरोधी अभियानों पर फोकस करने के लिए ये कदम उठाया गया है|

 


वर्ष 2008 से इस वर्ष 16 अप्रैल तक 2,202 नागरिक और 1,389 सुरक्षाकर्मी माओवादी हिंसा में मारे गये हैं| छत्तीसगढ़, झारखंड, बंगाल, ओड़िशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र समेत देश के अन्य कई राज्यों में नक्सलवादियों की सक्रियता है| सीआरपीएफ अधिकारियों के मुताबिक रोड ओपनिंग ड्यूटी पर रोक का एक मकसद सड़कों की सुरक्षा को लेकर रणनीति बदलना भी है| अधिकारी मानते हैं कि बीते कुछ हमलों के दौरान रणनीति में चूक पाई गई है| मसलन बुर्कापाल में हुए हमले की शुरुआती जांच में पता चला है कि जवान ड्यूटी के दौरान रोज एक ही जगह पर आराम के लिए रुकते थे| इसके अलावा हमले के वक्त कुछ जवानों के सुस्ताने के भी सबूत मिले हैं|

 


इसके अलावा बस्तर में सीआरपीएफ के सभी सुरक्षा कैंपों को चार-पांच किलोमीटर के दायरे में ऑपरेशन चलाने के लिए कहा गया है| इसका मकसद जवानों और स्थानीय आबादी में भरोसा बढ़ाना है|सरकार की रणनीति है कि छत्तीसगढ़ के नक्सल-प्रभावित इलाकों को सड़कों के जरिये जोड़ा जा सके ताकि वक्त पड़ने पर यहां सुरक्षाबलों को आसानी से पहुंचाया जा सके और स्थानीय गांवों को विकास की धारा के साथ जोड़ा जा सके. लेकिन नक्सलियों के गढ़ में ये काम कठिन साबित हुआ है|

 


Chattisgarh, Sukma, Serious challenge, Naxalism, Road opening operations, CRPF, Cancelled

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------