सोशल मीडिया पर अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की फैली अफवाह

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/06/12 08:40

श्रीगंगानगर। सोशल मीडिया पर कल रात किसी ने अचानक अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की अफवाह फैला दी, जो देखते ही देखते वायरल हो गई। इससे पहले की कोई कुछ किसी को समझाता लोगों ने सोशल मीडिया पर शोक संदेश देने शुरू कर दिए। 

बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अभी  एम्स में भर्ती है। उनका यूरिन में संक्रमण का इलाज चल रहा है और हालत स्थिर बताई जा रही है। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया फिलहाल उन्हें अस्पताल से छुट्टी देने पर विचार नहीं किया जा रहा है। एम्स द्वारा जारी मेडकिल बुलेटिन में कहा गया है कि पूर्व पीएम वाजपेयी पर दवाओं का असर हो रहा है। एम्स द्वारा जारी बुलेटिन में कहा गया है कि वाजपेयी को इंजेक्टबल मेडिसिन पर रखा गया है। बयान में कहा गया है कि पूर्व पीएम के सभी अंग सही काम कर रहे हैं। इंफेक्शन खत्म होने तक उन्हें हॉस्पिटल में ही रखा जाएगा। 

वाजपेयी (93) को सोमवार को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए एम्स में भर्ती कराया गया। इसके बाद उनका हालचाल लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई बड़े नेता अस्पताल पहुंचे।  एम्स की मीडिया और प्रोटोकॉल डिविजन की अध्यक्ष आरती विज ने कहा, वाजपेयी को एम्स में जांच व परीक्षण के लिए भर्ती कराया गया था। उन्हें यूरीनरी संक्रमण होने का पता चला है, जिसके लिए डॉक्टरों की एक टीम की निगरानी में उचित उपचार किया जा रहा है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

हज यात्रा 2018 का समापन

देश विदेश की बड़ी खबरें फटाफट अंदाज़ में | India 360
जानिए क्या है जीका वायरस
राजधानी में जीका वाइरस की दस्तक पर केंद्र में \'खलबली\'
मोहर्रम के अगले दिन ताला गांव में झगड़ा, चली लाठियां और सरिये
क्या आप पैसों की समस्याओं से मुक्ति पाना चाहते हैं ,क्या आप नौकरी में प्रमोशन चाहते हैं
कैसे आर्थिक तंगी से निजात पायी जाए, जानिए आर्थिक स्थिति सुधारने के उपाय | Good Luck Tips
दागी नेताओं पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नेताओं पर चार्जशीट के आधार पर कार्रवाई नहीं