शहीद के पिता के बेवाक बोल, कहा - सरकार अब दुश्मनों को दें मुंहतोड़ जवाव

Published Date 2018/06/13 06:09, Written by- Bharat Dixit

जयपुर। 'कर चले हम फिदा जान-औ-तन साथियों, अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों...' शायद शहीद होने से पहले जितेंद्र सिह के मन में कुछ यही पंक्तियां जरूर आई होंगी। पाकिस्तान की ओर से कल जम्मू कश्मीर में हुई गोलाबारी में शहीद हुई भरतपुर जिले के सलमपुर कलां गांव के सपूत जितेंद्र चौधरी की पार्थिव देह आज रात 10 बजे जयपुर पहुंचेगी, जिसके बाद पार्थिव देह को उनके पृतक गांव सलमपुर कलां ले जाया जाएगा औऱ अगले दिन पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जिस सपूत ने अपने प्राणों की आहुति देकर देश की रक्षा की, उनके पिता को भी उनके पर नाज है।

भरतपुर जिले के एक छोटे से गांव सलमपुर कला में जन्मे जितेंद्र शुरू से ही बहादुर रहे। बचपन से ही उनकी आर्मी में जाने की इच्छा को उनके पिता ने पहचान लिया और उन्हें इसकी तैयारी भी कराई। जितेंद्र के पिता कहते हैं कि इनकी कुंडली में भी फोर्स में जाने के योग लिखे हुए थे। जितेंद्र के माता—पिता कल ही जम्मू से रवाना होकर आज जयपुर पहुंचे, जिन्होंने बताया कि उन्हें कल ही खुद जितेंद्र ने ट्रेन में हंसी खुशी बैठाया था, लेकिन उन्हें ये पता नहीं था कि जयपुर पहुंचते ही उनके शहीद होने की सूचना उन तक पहुंचेगी। जितेंन्द्र के दोस्त उन्हे प्यार से जीतू बुलाते हैं, वो कहते हैं कि कल रात को ही जीतू से बात हुई थी। वो जल्द ही जयपुर आने की बात कह रहा था, लेकिन आज जैसे ही फोन आया कि वो शहीद हो गया है। एक पल यकीन नहीं हुआ, लेकिन हमें उन पर गर्व है।

देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले जितेंद्र की खबर उनके निज निवास जयपुर पहुंची तो सभी लोग भावुक हो गए। देखते ही देखते घर पर लोगों का तांता लग गया। राजनेता से लेकर उनके दोस्त उनके घर पर पहुंचे और मा-बांप व भाई को ढांढस बंधाया। राजनेताओं में घनश्याम तिवाड़ी, सुरेश मिश्रा, सासंद रामचरण बोहरा, विष्णु लाटा सहित कई लोग घर पर पहुंचे।

जितेंद्र के शहीद होने की बात पर सासंद रामचरण बोहरा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब देंगे। हमारी सरकार चुप बैठने वाली नहीं है। वहीं उनके पिता ने भी ये बात कही कि हमने अपना बेटा खोया है, लेकिन हम सरकार से एक ही बात कहना चाहते हैं कि उन आतिकियों को मुंहतोड़ जबाव मिले और सरकार इस मामले को गहनता से लें।

गौरतलब है कि कल रात पाकिस्तान की ओर से हुई गोलाबारी में राजस्थान के तीन सपूत शहीद हो गई, जिनमे से जितेंद्र चौधरी एक है। अब शहीद जितेंद्र के पिता ने भी सरकार से ये आग्रह किया है कि दुश्मनों को मुहतोड़ जबाव दिया जाए। देखना होगा कि सरकार क्या वाकई में दुश्मनों को मुंहतोड़ जबाव देगी या फिर यूं ही वीर सपूत अपने प्राणों को न्यौछावर करते रहेंगे।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------