उल्लेखनीय है कि विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर करीब 9000 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है। यह कर्ज एसबीआई की अगुवाई वाले 17 बैंकों के समूह ने दिया था। पिछले साल मार्च में माल्या भारत से निकल गए थे। उससे पहले उन्होंने यूएसएल के साथ डील की थी, जिसमें उन्हें कंपनी से हटने के एवज में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम मिली थी और उस वक्त रही किसी भी 'पर्सनल लायबिलिटी' से वह मुक्त कर दिए गए थे, तबसे माल्या ब्रिटेन में है।

माल्या के लंदन चले जाने की खबरों के बाद भारत ने ब्रिटेन सरकार से माल्या को भारत भेजने की अपील की थी। भारत की मांग पर सुनवाई करते हुए लंदन प्रशासन ने माल्या को रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उसे जमानत मिल गई थी और फिलहाल वह जमानत पर बाहर है।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/hearing-on-extradition-Vijay-Mallya-will-begin-today-106166244", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "आज से शुरू होगी धोखाधड़ी-मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

आज से शुरू होगी धोखाधड़ी-मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई

Published Date 2017/12/04 12:25, Written by- FirstIndia Correspondent

लंदन। देश के विभिन्न बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का बकाया चुकाए बगैर देश से फरार होने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर लंदन की अदालत में आज से सुनवाई शुरू होगी। सुनवाई के दौरान माल्या को वापस भारत लाने के मामले में अदालत फैसला करेगी। माल्या के वकील जहां अदालत में दलील दे रहे हैं कि भारत वापसी के बाद माल्या की जान को खतरा है, वहीं भारत की ओर से इससे साफ इन्कार किया जा रहा है।

इस समय जमानत पर चल रहे विजय माल्या को भारत भेजने संबंधी मामले में होने वाली इस सुनवाई के लिए माल्या वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में उपस्थि​त रहेंगे। गौरतलब है कि वह मार्च 2016 में भारत से भागकर यहां ब्रिटेन आ गए थे। उनकी फिलहाल बंद पड़ी किंगफिशर एयरलाइंस पर विभिन्न बैंकों को 9 हजार करोड़ रुपए से अधिक का बकाया है। हालांकि माल्या अपने खिलाफ लगे सभी आरोपों का खंडन करते हुए कह चुके हैं कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है।

आपको बता दें कि इससे पूर्व माल्या 20 अक्टूबर को लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश हुए थे। इस दौरान माल्या ने कहा कि वो भारत नहीं जा सकते, क्योंकि वहां पर उन्हें जान का खतरा है। वहीं अभियोजन पक्ष ने कहा कि भारत सरकार माल्या की सुरक्षा व्यवस्था के मापदंडों के बारे में जानकारी दें।

उल्लेखनीय है कि विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर करीब 9000 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है। यह कर्ज एसबीआई की अगुवाई वाले 17 बैंकों के समूह ने दिया था। पिछले साल मार्च में माल्या भारत से निकल गए थे। उससे पहले उन्होंने यूएसएल के साथ डील की थी, जिसमें उन्हें कंपनी से हटने के एवज में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम मिली थी और उस वक्त रही किसी भी 'पर्सनल लायबिलिटी' से वह मुक्त कर दिए गए थे, तबसे माल्या ब्रिटेन में है।

माल्या के लंदन चले जाने की खबरों के बाद भारत ने ब्रिटेन सरकार से माल्या को भारत भेजने की अपील की थी। भारत की मांग पर सुनवाई करते हुए लंदन प्रशासन ने माल्या को रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उसे जमानत मिल गई थी और फिलहाल वह जमानत पर बाहर है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------