चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस को आई रूठी जातियों और नेताओं की याद

Published Date 2017/11/14 07:16, Written by- Dinesh Kumar Dangi

जयपुर। विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस इस बार कोई गलती करने के मूड में नहीं है। पिछले चुनाव में पार्टी 21 सीटों पर कैसे निपटी, इसकी एक्सरसाइज करते हुए नाराज जातियों और नेताओं को वापस लाने की प्लानिंग बनाई है। कांग्रेस ने जिले के प्रभारी नेताओं और कॉर्डिनेटर्स को इसके लिए टास्क दिया है।

तमाम प्रभारियों-पर्यवेक्षकों को बाकायदा इसके लिए 6 बिन्दुओं का परफोर्मा दिया गया है, जिसमें विधानसभा वाइज किस जाति के कितने वोट है औऱ उस जाति का मजबूत नेता कौन हैं। यानि विश्नोई, सिरवी, राजपूत, जसनाथी, राजपुरोहित औऱ दलितों में कोली, बैरवा, नायक जैसी कई छोटी छोटी जातियों को कांग्रेस से जुड़ने के लिए क्या कदम उठाए जाएं। साथ ही पिछले चुनाव में कांग्रेस छोड़कर भाजपा औऱ अन्य पार्टियों में गए नेताओं की घर वापसी के भी प्रयास शुरु कर दिए हैं।

ऐसे नेताओं के पार्टी छोड़ने और वापस कैसे लाया जाए, इसकी भी जानकारी मांगी गई है। साथ ही पार्टी का प्रत्याशी कमजोर रहने पर भाजपा से या फिर दूसरी पार्टी से किस नेता को तोड़ा जाए, इसके भी पांच-पांच नाम मांगें गए हैं। हालांकि पार्टी यह सारा काम गुपचुप और बेहद सावधानी से कर रही है, लेकिन पिछले दिनों जब प्रभारी अविनाश पांडे ने दिल्ली में प्रभारियों और कॉर्डिनेटर की रिपोर्ट देखी तो सामने आया कि अधिकतर ने इन कॉलम को ही भरकर नहीं भेजा।

लिहाजा, नए सिरे से अब इसकी फिर से जानकारी मांगी गई है। साथ ही सारी जानकारी मीडिया में भी लीक हो गई है, लेकिन साफ है कि कांग्रेस चुनाव से पहले जातिगत और सियासी समीकऱण साधने में कोई चूक नहीं करना चाहती है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

18566