भारतवर्ष में उल्लास से मनाई जा रही है अंबेडकर जयंती, PM मोदी दिखाएंगे ‘ग्राम स्वराज अभियान' को हरी झंडी

Published Date 2018/04/14 10:24,Updated 2018/04/14 10:44, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली। भारत को संविधान देने वाले महान नेता बाबा साहब डा. भीम राव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव में हुआ था। पिता का नाम रामजी मालोजी सकपाल और माता का भीमाबाई था। अपने माता-पिता की चौदहवीं संतान के रूप में जन्में डॉ. भीमराव अम्बेडकर जन्मजात प्रतिभा संपन्न थे। 

भीमराव अंबेडकर का जन्म महार जाति में हुआ था, जिसे लोग अछूत और बेहद निचला वर्ग मानते थे। बचपन में भीमराव अंबेडकर (Dr.B R Ambedkar) के परिवार के साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था। अंबेडकर के पूर्वज लंबे समय तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में कार्य करते थे और उनके पिता ब्रिटिश भारतीय सेना की मऊ छावनी में सेवा में थे। भीमराव के पिता हमेशा ही अपने बच्चों की शिक्षा पर जोर देते थे।

वहीं दूसरी तरफ बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती पर पीएम मोदी छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे, बता दें कि पीएम मोदी का अहम माना जा रहा है क्योंकि वो इस दौरान प्रदेश में 'ग्राम स्वराज अभियान' और आदिवासियों के सामाजिक आर्थिक विकास से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाएंगे.

वैसे देखा जाए तो अगले साल होने वाले आम चुनाव और कर्नाटक विधानसभा चुनाव के चलते सभी दल दलितों के मसीहा अंबेडकर की आज 127वीं जयंती मना रहे हैं, इस समय अंबेडकर सभी दलों के सबसे बड़े राजनीतिक ब्रैंड बन चुके है। हालांकि पूर्व में अंबेडकर प्रतिमाओं के क्षतिग्रस्त होने की कई घटनाओं के सामने आने के बाद सभी जिलों में संबंधित पुलिस अधीक्षकों को मूर्तियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है, इसके साथ ही डीजीपी मुख्यालय की ओर से आगरा, हापुड़, मेरठ, शामली, मथुरा, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, नोएडा, अलीगढ़, फिरोजाबाद और गाजियाबाद जिलों को संवेदनशील घोषित करते हुए विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये गए हैं और साथ ही सभी जिलों के कप्तानों को निर्देश दिए गए हैं कि वे जिलेभर में स्थापित अंबेडकर मूर्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

21229