उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में हेड कांस्टेबल आरपी हाजरा शहीद हो गए थे, जिनकी उम्र 50 साल थी। बुधवार शाम करीब चार बजे हाजरा पाकिस्तानी सीमा की ओर से हुई गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। गोली लगने से घायल जवान को तुरंत पास के ही एक अस्पताल पर ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि जवान का बुधवार को ही जन्मदिन था।

इस घटना से कुछ दिन पहले पिछले साल 31 दिसंबर को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर सेना के एक जवान शहीद हुआ था। 32 साल के सिपाही जगसीर सिंह राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर सीमापार से पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलियां चलाई थीं। 2017 में पाकिस्तान ने बीते दशक में सबसे ज्यादा सीजफायर उल्लंघन किया, जिससे सेना के 19 और बीएसएफ के चार जवान समेत 35 लोगों की मौत हुई थी।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/indian-army-showing-the-zeal-with-killed-10-Pak-Rangers-on-border-1947490151", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "सेना का दिखाया जज्बा, 1 के बदले पाक के 10 रेंजर्स ढेर, 4 पाकिस्तानी चौकियां भी तबाह", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

सेना का दिखाया जज्बा, 1 के बदले पाक के 10 रेंजर्स ढेर, 4 पाकिस्तानी चौकियां भी तबाह

Published Date 2018/01/04 02:52, Written by- FirstIndia Correspondent

श्रीनगर। भारतीय सेना ने आज पाकिस्तान को उसके द्वारा किए गए सीजफायर उल्लंघन पर कार्यवाही करते हुए 1 के बदले 10 का जबरदस्त मुहंतोड़ जवाब दिया है। बुधवार को कश्मीर में सीमा पार से पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन में शहीद हुए बीएसएफ के एक जवान की शहादत के 24 घंटे में बदला लिया है। सेना ने आज सांबा सेक्टर में बीएसएफ ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है, जिसमें 10 पाकिस्तानी रेंजर्स को ढेर किया गया है। इसके साथ ही एलओसी पार 4 पाकिस्तानी चौकियों को भी तबाह किया गया है।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में बुधवार को पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की थी, जिसमें बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया था। पाकिस्तान सीमा पार से लगातार फायरिंग कर रहा है, वहीं भारतीय जवान भी पाक को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि बीएसफ जवानों ने बुधवार को 4 पाकिस्तानी मोर्टार की पोजिशंस का पता लगाया, उन्हें निशाना बनाया और नष्ट कर दिया।

बीएसएफ के जवानों ने गुरुवार सुबह करीब 5:45 बजे अरनिया सेक्टर में निकोवाल सीमा चौकी के समीप अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दो-तीन संदिग्ध लोगों को देखा। बीएसएफ जवानों ने गोलीबारी शुरू की, जिसमें एक घुसपैठिया मारा गया। मृतक की उम्र 30 वर्ष के आसपास होगी, बाकी घुसपैठिये किसी तरह से वापस भाग निकले। फिलहाल इलाके में घुसपैठियों की संदिग्ध गतिविधियों के मद्देनजर निगरानी बढ़ा दी गई है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में हेड कांस्टेबल आरपी हाजरा शहीद हो गए थे, जिनकी उम्र 50 साल थी। बुधवार शाम करीब चार बजे हाजरा पाकिस्तानी सीमा की ओर से हुई गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। गोली लगने से घायल जवान को तुरंत पास के ही एक अस्पताल पर ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि जवान का बुधवार को ही जन्मदिन था।

इस घटना से कुछ दिन पहले पिछले साल 31 दिसंबर को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर सेना के एक जवान शहीद हुआ था। 32 साल के सिपाही जगसीर सिंह राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर सीमापार से पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलियां चलाई थीं। 2017 में पाकिस्तान ने बीते दशक में सबसे ज्यादा सीजफायर उल्लंघन किया, जिससे सेना के 19 और बीएसएफ के चार जवान समेत 35 लोगों की मौत हुई थी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------