गौभक्ति के नाम पर इंसानो की हत्या स्वीकार्य नहीं: पीएम मोदी

Published Date 2017/06/29 12:38, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात की दो दिवसीय यात्रा पर है| नरेंद्र मोदी गुरूवार सुबह अहमदाबाद पहुंचे वहां पहुंचने के बाद उन्होंने साबरमती आश्रम का दौरा किया और इसी दौरान उन्होंने वहां पर चरखा चलाया| आश्रम इस साल अपनी 100वीं वर्षगांठ मना रहा है। मोदी ने आश्रम का दौरा किया और चरखे से सूत काता। आश्रम में उन्होंने महात्मा गांधी के आध्यात्मिक गुरु माने जाने वाले श्रीमद राजचन्द्र पर स्मारक डाक टिकट और सिक्का भी जारी किया। बाद में आश्रम की डायरी में अपने अनुभव भी लिखे। इस साल के आखिर में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कमर कस ली है| गुरुवार की शाम पाटीदारों के गढ़ में राजकोट में रोड शो कर नरेंद्र मोदी शक्ति प्रदर्शन करेंगे|

 

इसके बाद पीएम मोदी ने भीड़ की हिंसा पर कहा कि गाय की सेवा महात्मा गांधी और विनोबा भावे से सीखनी चाहिए| गोरक्षा के नाम पर हिंसा क्यों? मौजूदा हालातों पर पीड़ा होती है| गाय की सेवा ही गाय की भक्ति है| गोरक्षा के नाम पर हिंसा ठीक नहीं है| देश को अहिंसा के रास्ते पर चलना होगा| गोभक्ति के नाम पर लोगों हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी| अगर वह इंसान गलत है तो कानून अपना काम करेगा, किसी को भी कानून हाथ में लेने की जरूरत नहीं है| हिंसा समस्या का समाधान नहीं है|

 

आपको बता दें कि मोदी ने भीड़ की हिंसा को गलत बताते हुए कहा कि मरीज की मौत पर अस्पताल को फूंकना गलत है| उस डॉक्टर का कोई दोष नहीं है, जो आपके परिवार के सदस्य की सेवा कर रहा था, लेकिन उस सदस्य को बचा नहीं पाया, लेकिन फिर भी आपको शिकायत है तो कानून है| हिंसा समस्याओं का समाधान नहीं है. हमारा देश अहिंसा और गांधी का देश है|

 

जो देश चींटी को भी कुछ खिलाने पर विश्वास रखता है, जो देश गली में कुत्ते को भी कुछ खिलाने पर भी विश्वास रखता है उस देश को क्या हो गया है| पीएम मोदी ने एक कहानी के माध्यम से अपनी बात समझाई|उन्होंने कहा कि जब मैं छोटा था तो हमारे घर के पास एक परिवार रहता था| उस परिवार में कोई संतान नहीं थी, जिसके कारण काफी तनाव का माहौल रहता था| काफी समय बाद उस घर में एक संतान का जन्म हुआ| उस समय एक गाय वहां पर आती थी और रोजाना कुछ खाकर जाती थी| 

 

एक बार गाय के पैर के नीचे बच्चा आ गया था, और उसकी मौत हो गई| दूसरे दिन सुबह ही वह गाय उनके घर के सामने खड़ी हो गई, उसने किसी के घर के सामने रोटी नहीं खाई| उस परिवार से भी रोटी नहीं खाई| गाय के आंसू लगातार बह रहे थे| वह गाय कई दिनों तक कुछ नहीं खा-पी सकी| पूरे मोहल्ले के लोगों ने काफी कोशिश की लेकिन गाय ने कुछ नहीं खाया और बाद में अपना शरीर त्याग दिया| एक बच्चे की मौत के पश्चाताप में उस गाय ने ऐसा किया, लेकिन आज लोग गाय के नाम पर ही हत्या कर रहे हैं| गौरतलब है कि भीड़ द्वारा हत्या को लेकर पीएम मोदी के बयान की काफी लंबे समय से प्रतीक्षा थी| उन्होंने अपने बयान के माध्यम से कानून अपने हाथ में लेने लोगों को कड़ा संदेश दिया है|

 

Gujarat, Poll, PM Modi, Aaji Dam, Roadshow, Patidaars Bastion, Rajkot, Narendra Modi 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------