आधी रात बाद के होगा 2018 का पहला सूर्यग्रहण, Live Telecast करेगा नासा

Published Date 2018/02/15 05:58, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली। साल 2018 का पहला चंद्रग्रहण होने के बाद अब साल का पहला सूर्यग्रहण भी आज आधी रात को होगा। हालांकि इस सूर्यग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकता है, लेकिन भारतीय उपमहाद्वीप के अलावा अन्य देशों में दिखाई देने वाले इस सूर्यग्रहण का नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) द्वारा Live Telecast किया जाएगा। इस सूर्य ग्रहण का नजारा नासा की वेबसाइट पर लाइव देखा जा सकेगा। 

आज होने वाले इस सूर्यग्रहण का समय आज रात 12 बजकर 25 मिनट है। वहीं इसका प्रभाव 16 फरवरी प्रात: चार बजे तक रहेगा। ग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले आरंभ हो जाता है। रात में होने के कारण सूर्यग्रहण को भारतीय उपमहाद्वीप में नहीं देखा जा सकेगा, वहीं दक्षिण अमरीका, प्रशांत महासागर, चिली, पैसिफिक महासागर, ब्राजील, दक्षिण जार्जिया, ध्रुवप्रदेश अंटार्कटिका आदि देशों में सूर्यग्रहण दिखाई देगा।

आपको बता दें कि आज होने वाला सूर्यग्रहण एक आंशिक ग्रहण है और इस बार साल में तीन ग्रहण लगेंगे। आज होने वाले इस सूर्य ग्रहण के बाद दूसरा सूर्य ग्रहण 13 जुलाई को होगा, जो कि आंशिक सूर्यग्रहण होगा और इसे ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा। वहीं इसके बाद तीसरा आंशिक सूर्यग्रहण 11 अगस्त को पूर्वी यूरोप, एशिया, नोर्थ अमेरिका और आर्कटिक में दिखाई देगा।

क्या होता है सूतक :
सूतक ग्रहण से जुड़ी एक सबसे बड़ी धारणा है। सामान्यता सूतक को अशुभ मुहूर्त का समय माना जाता है और इस समय में कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता है। धार्मिक नियमों के अनुसार ग्रहण के 12 घंटे से पूर्व ही सूतक समय आरम्भ हो जाता है और यह ग्रहण समाप्ति के मोक्ष काल के बाद स्नान धर्म स्थलों को फिर से पवित्र करने की क्रिया के बाद ही समाप्त होता है।

सूतक काल में क्या ना करें :
सूर्यग्रहण के 12 घंटे से पूर्व ही सूतक लग जाने की वजह से मंदिरों के पट भी बंद कर दिये जाते है। ऐसे में पूजा, उपासना या देव दर्शन नहीं किये जाते हैं। इस दौरान पूजा न करें। देव प्रतिमाओं के अलावा तुलसी वृ्क्ष, शमी वृ्क्ष को स्पर्श नहीं किया जाता है। ग्रहण के दौरान और सूतक काल में मांस व तामसिक भोजन वर्जित बताया गया है। ग्रहण काल से जुड़ी एक मान्यता के अनुसार इस अवधि में सब्जी काटना, सिलाई करना, धागा पिरोना आदि से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाएं भी सूर्य ग्रहण के दौरान और सूतक काल में सूरज की किरणों से दूर रहें।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

20046