विवेक तिवाड़ी मामले में नया खुलासा, सना ने बताया गाड़ी नहीं रोकने का राज

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/03 10:58

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ऐपल एक्जिक्यूटिव विवेक तिवाड़ी के मामले में अब एक और नया खुलासा हुआ है। हादसे की एकमात्र चश्मदीद गवाह सना खान ने हादसे वाली रात की पूरी कहानी बताते हुए अपने बयान में यह बताया कि विवेक के शरीर में गोली लगी हुई थी, लेकिन तब भी वह अपनी कलीग को बचाने की कोशिश करते रहे।

सना पे अपने बयान में कहा कि, 'गोली लगने के बाद उनमें जितनी जान बची थी, उतने में वह आगे गाड़ी बढ़ाते रहे। इसके बाद कुछ दूरी पर स्थित एक खंभे से कार टकरा गई और वह अपनी सीट पर पीछे की ओर गिर गए, जिसके बाद उनका सिर एक ओर झुक गया, लेकिन वह तब भी सांस ले रहे थे।

सना ने पुलिस की उस थ्योरी का भी भंडाफोड़ किया, जिसमें बताया जा रहा था कि कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने डिवाइडर पर खड़े होकर गोली चलाई थी और उस वक्त कार खड़ी हुई थी। सना ने कहा कि कार उस समय नॉर्मल स्पीड में थी और सड़क की बाईं ओर ही चल रही थी और ऐसा कुछ भी नहीं था, जो पुलिस को फायरिंग करने पर मजबूर करे।

सना ने कहा कि हम फोन लॉन्चिंग के कार्यक्रम से लौट रहे थे, जब दो वर्दीधारी कॉन्स्टेबल एक मोटरबाइक से कार की तरफ आए। कार नॉर्मल स्पीड से चल रही थी और सामने मोटरसाइकिल आकर खड़ी हो गई। मोटरसाइकिल की पिछली सीट पर बैठा एक कॉन्स्टेबल हाथ में लाठी लिए बाइक से उतरा, जिसने हमें रुकने और गाड़ी से बाहर आने के लिए बोला। चूंकि रात काफी हो चुकी थी और हमें पता नहीं था कि हमें क्यों रोकना चाहते हैं। इसलिए वि​के सर कार को धीरे-धीरे आगे बढ़ाते रहे।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए सना ने कहा कि गाड़ी नहीं रोकने के कारण वह कॉन्स्टेबल हम पर चिल्ला रहे थे और उन्होंने हमसे कोई पहचान के लिए भी नहीं पूछा। हमने उनसे कुछ बोला भी नहीं और न ही उनसे हमारी कोई कहासुनी हुई। कुछ देर बाद कॉन्स्टेबल मेरी तरफ वाली खिड़की पर आया और अपनी लाठी से मुझे कोंचने लगा, जिसके बाद विवेक सर ने उसे हटाने की कोशिश की।

सना ने कहा कि इसके बाद ही कार के सामने खड़े दूसरे कॉन्स्टेबल ने अपनी पिस्तौल निकाली और विवेक सर पर फायर कर दिया, जिसके बाद उनके सर के खून निकलने लगा, मैं काफी डर गई थी और चिल्ला रही थी। मुझे पता नहीं था कि क्या करना है। मैं खून रोकने के लिए चोट की तरफ देखने का प्रयास कर रही थीं, लेकिन सर ने कार चलानी जारी रखी। कॉन्स्टेबल का मोटरबाइक से उतरना और गोली चलाना अचानक सब एक मिनट में हो गया।

सना ने बताया कि गोली लगने के बाद भी जब विवेक सर कार को आगे बढ़ा रहे थे, तभी कार का आगे का पहिया पुलिस वालों की मोटरबाइक के पहिए से टकरा गया, जिससे वह सड़क पर गिर गई थी। लेकिन इससे कोई भी सिपाही घायल नहीं हुआ था। इस पर भी विवेक सर ने कार तकरीबन आधा किमी तक चलाई और कार सड़क किनारे लगे एक खंभे से टकरा गई।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

10:00 बजे की सुपर फास्ट खबरें

बर्थडे स्पेशल: 4 साल 14 राज्य, अमित शाह ने यूं बीजेपी का लहराया परचम
अफसरों की रार, सीबीआई पर \'रिश्वत\' की मार
Big Fight Live | ​दोहरा वार-पलटवार | 22 OCT, 2018
दिल्ली में 400 पेट्रोल पंप हड़ताल पर गए
यूपी विधान परिषद के सभापति की पत्नी गिरफ्तार, बेटे के मर्डर का आरोप
ब्लैकमनी पर \'सफेद\' सवाल, CIC के सवालों में घिरा PMO!
चलती कार में लगी आग, जिंदा जला ड्राइवर