आधार को सिक्योर करने के लिए UIDAI की नई कवायद, देनी होगी 16 अंकों की वर्चुअल आईडी

Published Date 2018/01/11 12:46, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली। आम आदमी की पहचान बन चुके आधार को बैंक खातों समेत कई महत्वपूर्ण दस्तावेजों से लिंक कराने के बाद अब आधार को सिक्योर किए जाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए आधार अथोरिटी Unique Identification Authority of India (UIDAI) ने कवायद शुरू कर दी है, जिसके तहत अब जल्द ही आधार नम्बर के साथ ही वर्चुअल आईडी के जरिये आधार से जुड़े कार्यों का निष्पादन किया जा सकेगा। जहां आधार नम्बर 12 डिजिट के अंक होते हैं, वहीं इन अंकों से अब 16 डिजिट के अंकों वाली वर्चुअल आईडी जनरेट की जाएगी।

गौरतलब है कि आधार अथोरिटी UIDAI के पास 100 करोड़ से भी ज्यादा भारतीयों का डाटा है। हाल ही में आधार से जुड़ी जानकारी की सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़े हुए हैं, जिसमें आधार की डिटेल्स लीक होने की बात कही गई थी। ऐसे में आधार अथोरिटी UIDAI ने अपने डाटा का एक्सेस 5 हजार सरकारी अधिकारियों तक सीमित ही कर दिया है और इसे अब और भी सिक्योर किया जा रहा है।

आधार को सिक्योर करने के लिए आधार अथोरिटी UIDAI एक नई तकनीक लेकर आ रहा है, जिसकी मदद से आधार से जुड़ी डिटेल्स की सुरक्षा को और कड़ा किया जा सकेगा। वहीं इससे आधार डिटेल्स का किसी भी तरह से गलत तरीके का इस्तेमाल किए जाने पर रोक लगाई जा सकेगी। उम्मीद की जा रही है कि इस तकनीक की मदद से आधार की सुरक्षा में लगी सेंध से बचा जा सकेगा। वर्चुअल आईडी की सुविधा 1 मार्च से मिलनी शुरू हो जाएगी। हालांकि 1 जून से सभी एजेसियों के लिए अनिवार्य हो जाएगा कि वह वर्चुअल आईडी को स्वीकार करें।

हर आधार की नई वर्चुअल आईडी :
दरअसल, UIDAI जुलाई 2016 से इस सुरक्षा तंत्र पर काम कर रहा है और अब इसकी घोषणा भी की जा चुकी है। अब हर आधार कार्ड के लिए नई वर्चुअल आईडी बनाई जा सकती है। इसका इस्तेमाल तब किया जा सकेगा, जब थर्ड पार्टी को किसी भी तरह की वेरिफिकेशन या KYC प्रोसेस के लिए आधार नंबर की जरुरत पड़ेगी। इसकी घोषणा करते हुए UIDAI ने कहा कि आधार नंबर स्थायी रूप से पहचान का प्रमाण है। इसकी सुरक्षा और इसके लगातार उपयोग को बनाए रखने के लिए एक तंत्र प्रदान करना आवश्यक था।

इस तरह जनरेट होगी नई वर्चुअल आईडी :
वर्चुअल आईडी को आप खुद जनरेट कर सकेंगे, जिसके लिए आपको UIDAI की वेबसाइट पर जाना होगा। यहां एक नया टैब आ सकता है, जिसके जरिये आप हर काम के लिए एक नया वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकेंगे। जब यूजर को अपने आधार नंबर की जरुरत होगी, तो वह UIDAI की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर या फोन पर mAadhaar ऐप से उसी समय 16 डिजिट का वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकता है। यह नंबर 12 डिजिट के असली आधार नंबर के लिए मास्क की तरह काम करेगा।

सिमित होगा डिटेल्स एक्सेस करना :
वर्चुअल आईडी से सिर्फ नाम, पता और व्यक्ति की फोटो को एक्सेस किया जा सकेगा। UIDAI के अनुसार यह वर्चुअल आईडी अस्थायी होगी और इसे किसी भी समय वापस लिया जा सकेगा। हर आईडी की वैलिडिटी की समय सीमा होगी। इस समय सीमा को यूजर खुद निश्चित कर पाएंगे। अगर कोई भी व्यक्ति वर्चुअल आईडी जनरेट करता है, तो पुरानी वाली आईडी अपने आप एक्सपायर हो जाएगी। इसका मतलब यह है कि एक व्यक्ति के लिए एक समय पर एक ही वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल किया जा सकेगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------