पीएम मोदी ने कहा कि, 'मुझे इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समुदाय की तरफ से लड़ रहे हैं, लेकिन इसका सम्बंध लोकसभा चुनाव से कैसे हो सकता है?' उन्होंने पूछा कि आखिर 2019 में चुनाव कांग्रेस लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड। जब तीन तलाक का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में था, तब सरकार ने कोर्ट में एफिडेविट दिया था। अखबारों ने लिखा कि मोदी यूपी के चुनाव के चलते कुछ नहीं बोल रहे। लोगों ने मुझसे इस मुद्दे पर नहीं बोलने के लिए कहा कि कहीं चुनाव में हार न मिल जाए। मैं एकदम साफ था कि तीन तलाक के मुद्दे पर खामोश नहीं रहूंगा। इंसानियत पहले आती है, चुनाव बाद में।

यहां उन्होंने बाबासाहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें याद किया। इसके बाद पीएम मोदी ने कांग्रेस को लपेटे में लेकर कहा कि एक परिवार के लिए अंबेडकर और सरदार पटेल के साथ नाइंसाफी हुई। नरेंद्र मोदी ने आगे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सॉफ्ट हिंदुत्व फैक्टर पर धावा बोलते हुए कहा कि मंदिर-मंदिर जाने से गुजरात में बिजली नहीं आई। मैं इतने सालों से माला नहीं जप रहा था बल्कि काम कर रहा था।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/pm-modi-rise-ayodhya-matter-at-dhandhuka-of-Ahmedabad-in-gujarat-275296299", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "मोदी ने गुजरात में उठाया राम मंदिर मामला, पूछा - क्यों की सिब्बल ने सुनवाई टालने की मांग", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

मोदी ने गुजरात में उठाया राम मंदिर मामला, पूछा - क्यों की सिब्बल ने सुनवाई टालने की मांग

Published Date 2017/12/06 03:09, Written by- FirstIndia Correspondent

अहमदाबाद। गुजरात चुनावों को लेकर राजनीतिक दलों के दाव-पैंच जारी है और सभी दल मतदाताओं को रिझाने के प्रयासों में पूरजोर तरीके से लगे हुए हैं। इसी क्रम में भाजपा के पक्ष में मतदाताओं को लुभाने की कोशिशों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी लग हुए हैं। पीएम मोदी आज गुजरात के धंधुका में आयोजित चुनावी रैली को सम्बोधित करने के लिए पहुंचे, जहां उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर मामले को लेकर कपिल सिब्बल पर निशाना साधा है।

गुजरात में अहमदाबाद के धंधुका में आयोजित चुनावी रैली को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से कपिल सिब्बल द्वारा अयोध्या मसले पर सुनवाई टालने की मांग पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि सिब्बल कोर्ट में मुसलमानों के हक की बात करें, बाबरी मस्जिद पर दलीलें दें, इससे हमें कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन वो अयोध्या केस को 2019 के लोकसभा चुनाव से कैसे जोड़ सकते हैं?

पीएम मोदी ने कहा कि, 'मुझे इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समुदाय की तरफ से लड़ रहे हैं, लेकिन इसका सम्बंध लोकसभा चुनाव से कैसे हो सकता है?' उन्होंने पूछा कि आखिर 2019 में चुनाव कांग्रेस लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड। जब तीन तलाक का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में था, तब सरकार ने कोर्ट में एफिडेविट दिया था। अखबारों ने लिखा कि मोदी यूपी के चुनाव के चलते कुछ नहीं बोल रहे। लोगों ने मुझसे इस मुद्दे पर नहीं बोलने के लिए कहा कि कहीं चुनाव में हार न मिल जाए। मैं एकदम साफ था कि तीन तलाक के मुद्दे पर खामोश नहीं रहूंगा। इंसानियत पहले आती है, चुनाव बाद में।

यहां उन्होंने बाबासाहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें याद किया। इसके बाद पीएम मोदी ने कांग्रेस को लपेटे में लेकर कहा कि एक परिवार के लिए अंबेडकर और सरदार पटेल के साथ नाइंसाफी हुई। नरेंद्र मोदी ने आगे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सॉफ्ट हिंदुत्व फैक्टर पर धावा बोलते हुए कहा कि मंदिर-मंदिर जाने से गुजरात में बिजली नहीं आई। मैं इतने सालों से माला नहीं जप रहा था बल्कि काम कर रहा था।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------