एक ऐसा मंदिर जहां रात में नहीं, दिन में 12 बजे होता है भगवान श्रीकृष्ण का जन्म

Aditya Atreya Published Date 2017/08/15 04:09

जयपुर। आज जन्माष्टमी का पर्व पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है और आज रात 12 बजे कान्हा जन्म लेंगे। ऐसे में देशभर के कृष्ण मंदिरों में भक्तों की लंबी कतारें लगी है और सब कान्हा के आगमन का इंतजार कर रहे हैं। इन सबके बीच छोटी काशी के नाम से विख्यात गुलाबी नगरी जयपुर में एक मंदिर ऐसा भी है, जहां भगवान श्रीकृष्ण का जन्म अन्य मंदिरों की तरह मध्यरात्रि में नहीं होकर दोपहर 12 बजे ही होता है।

जी हां, राजधानी जयपुर में चौड़ा रास्ता स्थित राधा दामोदर मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण का जन्म दिन में 12 बजे मनाया जाता है। राधा दामोदर मंदिर 500 साल पुराना है, जहां कृष्ण का जन्म दिन में 12 बजे ही मनाया जाता है। इस मंदिर में पांच सौ साल पुरानी परंपरा आज भी कायम है।

बताया जाता है कि यह मंदिर कृष्ण के बाल स्वरूप का मंदिर है और बाल अवतार है, तो कृष्ण के सोने का समय 12 बजे का होगा, न कि 12 बजे उठने का। इसी के चलते आज भी इस मंदिर में दोपहर 12 बजे ही कृष्ण का जन्म मनाया जाता है और रात 12 बजे से पहले ही मंदिर के पट बन्द कर दिये जाते हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

सीएम वसुंधरा राजे की पहल, कौशल प्रशिक्षण से कुशल बन रहे युवा

मुख्यमंत्री ने झालावाड़ को दी सौगातें, CMR से किया 5 परियोजनाओं का आगाज़
थम गए बसों के पहिए, बिजली वाले भी दे रहे झटके, जनता की परेशानियों का कौन ज़िम्मेदार ?
राजस्थान में चाणक्य : उदयपुर में AMIT SHAH का संबोधन
ग्रामीण गौरव पथ योजना, योजना से बदली गांवों की तस्वीर
वसुंधरा राजे की ऐतिहासिक योजना, न्याय आपके द्वार अभियान
जयपुर में सलमान खान, स्पेशल बच्चों के \'उमंग\' सेंटर में केक कटिंग सेरेमनी
राजस्थान में चाणक्य : नागौर के मेला मैदान में AMIT SHAH का संबोधन