सोनिया गांधी ने कहा कि अब बदलाव के लिए माहौल बना हुआ है। उन्होंने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को इन दो राज्यों में पार्टी के लिए बेहतर परिणाम देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में होने वाले चुनाव में भी पार्टी दोबारा सत्ता में आएगी। गौरतलब है 19 वर्षों तक कांग्रेस अध्‍यक्ष की जिम्मेदारी संभालने के बाद सोनिया गांधी ने अपने बेटे राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्‍मेदारी सौंपी है। जबकि वह अब भी कांग्रेस संसदीय दल की अध्‍यक्ष हैं।

इस दौरान सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए यह भी कहा कि चार साल के कार्यकाल में संवैधानिक संस्थाओं को योजनाबद्ध तरीके से कमजोर करने का काम किया गया है। राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ जांच एजेंसियों को खुला छोड़ दिया गया है। कृषि और अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर सरकार के दावे गलत हैं। नई नौकरियां मिल नहीं रही हैं और पुरानी जा रही हैं। पिछले चार साल में निवेश में भी काफी गिरावट आई है।

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया कि लोकतंत्र के तमाम संस्थानों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को टारगेट करने के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है। सोनिया गांधी ने कहा कि इस सरकार को सत्ता में आए हुए करीब चार साल हो चुके हैं। इस दौरान संसद, न्याय पालिका, मीडिया और सिविल सोसायटी समेत कई लोकतांत्रिक संस्थानों को निशाना बनाया गया।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा की छिटपुट वारदातें नहीं हो रही हैं बल्कि जानबूझकर संकीर्ण राजनीतिक लाभ के लिए समाज में ध्रुवीकरण की कोशिश हो रही है। इस दौरान उन्होंने गुजरात के विधानसभा चुनाव और राजस्थान में हुए उपचुनावों में पार्टी के शानदार प्रदर्शन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ये नतीजे बताते हैं कि हवा बदल रही है। उन्होंने कहा कि मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि कर्नाटक में भी कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहेगा।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/rahul-gandhi-is-also-my-boss-now-said-sonia-gandhi-442861707", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "कांग्रेस नेताओं से बोलीं सोनिया गांधी, कहा — राहुल अब मेरे भी बॉस है", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

कांग्रेस नेताओं से बोलीं सोनिया गांधी, कहा — राहुल अब मेरे भी बॉस है

Published Date 2018/02/08 01:57, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया ने पार्टी की संसदीय दल की बैठक में अपनी भूमिका को लेकर साफ किया कि राहुल गांधी अब उनके भी बॉस हैं। बैठक में मौजूद कांग्रेसी नेताओं को पार्टी में उनकी भूमिका को लेकर तमाम शंकाओं और अफवाहों पर पूर्ण विराम लगाते हुए सोनिया ने ये बात कही। सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को साफ कर दिया है कि पार्टी प्रमुख अब राहुल गांधी है, जिसमें उनका किसी तरह का कोई दखल नहीं है।

यहां आयोजित पार्टी की संसदीय दल की बैठक में सोनिया ने कहा कि हमारे पास नए कांग्रेस अध्यक्ष हैं और मैं आपकी व खुद अपनी ओर से उन्हें शुभकामनाएं देती हूं। साथ ही उन्होंने पार्टी में अपनी भूमिका को लेकर संदेह को दूर करते हुए कहा कि, 'राहुल गांधी अब मेरे भी बॉस हैं। इसको लेकर किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए और मुझे पता है कि आप सभी उनके साथ उसी समर्पण, वफादारी और उत्‍साह के साथ काम करेंगे जैसा कि मेरे साथ किया था।'

पार्टी नेताओं से मुखातिब होते हुए सोनिया ने कहा कि हम सब एक होकर पार्टी की बेहतरी के लिए राहुल गांधी के साथ काम करेंगे। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत हो गई है, गुजरात में हमने कठिन परिस्थितियों में काफी अच्छा परिणाम दिया है। इसके साथ ही राजस्थान के उपचुनाव में भी हमने जो परिणाम दिए हैं, वह काफी उत्साहवर्धक हैं। ऐसे में सोनिया के इस बयान को राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने से कथित तौर पर असंतुष्ट पार्टी नेताओं के लिए बड़ा संदेश माना जा रहा है। 

सोनिया गांधी ने कहा कि अब बदलाव के लिए माहौल बना हुआ है। उन्होंने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को इन दो राज्यों में पार्टी के लिए बेहतर परिणाम देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में होने वाले चुनाव में भी पार्टी दोबारा सत्ता में आएगी। गौरतलब है 19 वर्षों तक कांग्रेस अध्‍यक्ष की जिम्मेदारी संभालने के बाद सोनिया गांधी ने अपने बेटे राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्‍मेदारी सौंपी है। जबकि वह अब भी कांग्रेस संसदीय दल की अध्‍यक्ष हैं।

इस दौरान सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए यह भी कहा कि चार साल के कार्यकाल में संवैधानिक संस्थाओं को योजनाबद्ध तरीके से कमजोर करने का काम किया गया है। राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ जांच एजेंसियों को खुला छोड़ दिया गया है। कृषि और अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर सरकार के दावे गलत हैं। नई नौकरियां मिल नहीं रही हैं और पुरानी जा रही हैं। पिछले चार साल में निवेश में भी काफी गिरावट आई है।

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया कि लोकतंत्र के तमाम संस्थानों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को टारगेट करने के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है। सोनिया गांधी ने कहा कि इस सरकार को सत्ता में आए हुए करीब चार साल हो चुके हैं। इस दौरान संसद, न्याय पालिका, मीडिया और सिविल सोसायटी समेत कई लोकतांत्रिक संस्थानों को निशाना बनाया गया।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा की छिटपुट वारदातें नहीं हो रही हैं बल्कि जानबूझकर संकीर्ण राजनीतिक लाभ के लिए समाज में ध्रुवीकरण की कोशिश हो रही है। इस दौरान उन्होंने गुजरात के विधानसभा चुनाव और राजस्थान में हुए उपचुनावों में पार्टी के शानदार प्रदर्शन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ये नतीजे बताते हैं कि हवा बदल रही है। उन्होंने कहा कि मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि कर्नाटक में भी कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहेगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------