रणथंभौर नेशनल पार्क में अफरा-तफरी, लोगों से घिरे बाघ पलायन को मजबूर

Published Date 2018/04/19 01:35, Written by- FirstIndia Correspondent

सवाई माधोपुर। जिले में स्थित रणथंभोर नेशनल पार्क में चारों ओर अफरा-तफरी का माहौल है। बाघों के जंगल से बाहर पलायन करने को लेकर वन विभाग के अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं है। यूं कहें तो बाघों के जीवन पर संकट मंडराता हुआ दिख रहा है। पिछले 2 दिनों से रणथंभोर नेशनल पार्क के चारों ओर आबादी क्षेत्र में लगातार बाघों का मूवमेंट बना हुआ है।

इस कड़ी में कल सांवटा गांव में बाघ ने एक बकरी का शिकार किया, वहीं सुखवास गांव के पास भी एक टाइगर रोड पर विचरण करता हुआ देखा गया। तीसरी बड़ी खबर कुंडेरा क्षेत्र से आई, जहां बाघ टी—80 और एक मादा बाघिन टी—73 का जोड़ा कुंडेरा वन चौकी के पास अमरूदों के एक बगीचे में घुस गया। इस दौरान बाघ को देखने के लिए भारी संख्या में ग्रामीण वहां पर एकत्रित हो गए।

ग्रामीणों के साथ-साथ कई पर्यटक भी जिप्सियां लेकर वहां पहुंच गए। सूचना पर पहुंचे वन प्रशासन के अधिकारियों ने लोगों से समझाइश की और लोगों को बगीचे से दूर रखा। पूरी रातभर बाघ—बाघिन बगीचे में विचरण करते रहे। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि नर बाघ टी— 80 केलादेवी वन क्षेत्र से वापस लौटकर रणथंभौर आया है और बाघिन टी—73 के साथ जोड़ा बनाकर सहवास करना चाहता है। इसीलिए जंगल से बाहर निकलकर बगीचे में बैठे हुए हैं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि जंगल में पानी की कमी के चलते टाइगर गांव की तरफ रुख कर चुके हैं, लेकिन वन प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है। यदि जंगल के अंदर पानी की व्यवस्था होती तो शायद टाइगर जंगल से बाहर नहीं आते। वहीं दूसरा बड़ा कारण फुल डे और हाफ डे सफारी को भी बताया जा रहा है, जिससे टाइगरों की दिनचर्या पूरी तरह से खराब हो चुकी है और टाइगर जंगल छोड़ने को मजबूर हो चुके हैं।

फिलहाल वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई है और इस दौरान करीब 10—12 पुलिसकर्मी और गार्ड भी मौजूद है। बंदूक से हवाई फायर कर बाघ को जंगल की ओर भगाने के प्रयास कर रही है। अब तक दो फायर कर दिए गए हैं, लेकिन बाघ पर कोई असर नहीं हुआ। बाघ अभी भी बगीचे में बैठा हुआ है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------