समाजसेवा के खातिर मेवात क्षेत्र की MBBS पास लड़की बनी सरपंच

Published Date 2018/03/12 08:00, Written by- FirstIndia Correspondent

भरतपुर। राजस्थान के भरतपुर में एक 24 वर्षीय युवती, जिसने अभी MBBS किया है सरपंच का चुनाव जीता है और आज उप जिला निर्वाचन अधिकारी हरेंद्र कुमार ने उसे सरपंच पद की शपथ दिलाई। नवनिर्वाचित युवती सरपंच मेवात क्षेत्र में स्थित ग्राम पंचायत गढ़ाजान से निर्वाचित हुई है।

जिले का मेवात क्षेत्र, जो अपराध के क्षेत्र के रूप में बदनाम रहा है और जहां लड़कियों को स्कूल नहीं भेजा जाता है, वहीं पर एक पढ़ी—लिखी एमबीबीएस लड़की ने सरपंच पद पर निर्वाचित होकर समाज सेवा करते हुए पिछड़े लोगों के विकास करने के लिए राजनीति में कदम रखा है। कामां क्षेत्र में स्थित गढ़ाजान पंचायत में विगत 5 मार्च को सरपंच पद पर उपचुनाव हुआ था, जिसके बाद MBBS कर चुकी शहनाज खान ने चुनाव लड़ा और भारी बहुमत के साथ विजय हुई थी।

नवनिर्वाचित सरपंच शहनाज खान ने बताया कि वह एक डॉक्टर हैं और अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखते हुए सरपंच पद का कार्य भी करेगी। साथ ही मेवात क्षेत्र में जहां लड़कियों को शिक्षा से दूर रखा जाता है, उनको शिक्षा से जोड़ने का अभियान चलाएगी। साथ ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अलावा स्वच्छता का संदेश घर घर पहुंचाने का प्रयास करेगीं।

दरअसल, भरतपुर जिले का मेवात क्षेत्र जो अपराध के क्षेत्र का गढ़ माना जाता रहा है। वहां की पंचायत से नवनिर्वाचित सरपंच शहनाज खान की मां जाहिदा खान कामां से पूर्व कांग्रेस विधायक भी हैं। इसके अलावा जिस पंचायत से आज शहनाज खान जीती हैं, उस पंचायत में विगत 55 वर्षों से उसके दादा हनीफ खान लगातार सरपंच रहे। 

हनीफ खान के शैक्षणिक कागज खराब होने के कारण निर्वाचन आयोग ने उसको 30 अक्टूबर 2017 को पद से मुक्त कर दिया था, जिसको देखते हुए उनकी पोती शहनाज खान ने सरपंच बनकर समाज सेवा करने और अपने दादा का सपना पूरा करने के लिए सरपंच बनने की ठानी थी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------