...तो क्या जोधपुर में नहीं लिया जाने चाहिए मुंबई—जयपुर आगजनी हादसों से सबक

Published Date 2018/01/20 03:20, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। हाल ही में जयपुर और मुंबई में हुई आगजनी की घटनाओं के पूरे देश को झंकझौर कर रख दिया है। इन घटनाओं के बाद कई लोगों के विरुद्ध कार्रवाई भी हुई है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि आखिर इन घटनाओं को रोकने के लिए क्या उपाय किए गए थे। जोधपुर में भी संभाग के 3 बड़े अस्पताल हैं और इन अस्पतालों में हजारों मरीज प्रतिदिन आते हैं, लेकिन इतने बड़े अस्पताल होने के बावजूद भी यहां फायर सिस्टम नहीं होने से कभी भी कोई बड़ी जनहानि हो सकती है।

जोधपुर शहर में संभाग के 3 बड़े अस्पताल हैं, महात्मा गांधी अस्पताल, उम्मेद अस्पताल ओर मथुरादास माथुर अस्पताल। इन तीनों ही अस्पतालों में जोधपुर के अलावा पाली, जालौर, बाड़मेर, सिरोही और नागौर सहित आसपास के कई जिलों से मरीज इलाज के लिए आते हैं। प्रतिदिन हजारों की संख्या में मरीज आते हैं और अस्पताल में भर्ती होते हैं। इतने बड़े अस्पताल होने के बावजूद भी यहां फायर सिस्टम नहीं है।

इन अस्पतालों में औपचारिकता के लिए अग्निशमन यंत्र लगे हुए हैं, जो किसी भी बड़ी घटना में अनुपयोगी साबित होंगे। इतने बड़े अस्पतालों में पूरा फायर सिस्टम होना अतिआवश्यक है, लेकिन अभी तक किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया है। उम्मेद अस्पताल अधीक्षक ने बताया कि यहां आग को रोकने के लिए अग्निशमन यंत्र लगा रखे हैं और साथ ही कई फायर एग्जिट बना रखे हैं। आगजनी की घटना होने पर उन दरवाजों से बाहर निकला जा सकता है।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या मरीज इस स्थिति में होता है कि वह आगजनी होने पर अस्पताल से बाहर भाग सके। जोधपुर शहर में अस्पताल काफी बड़े हैं और अस्पतालों में कई गंभीर मरीज भर्ती रहते हैं। ऐसे में यदि कोई ऐसी घटना होती है तो मरीज रामभरोसे ही होंगे। ऐसे में जयपुर—मुंबई की घटनाओं से सबक लेते हुए जोधपुर मेडिकल कॉलेज को भी इस दिशा में कड़ी कार्रवाई करनी की आवश्यकता है। तीनों अस्पतालों में एक फायर सिस्टम डवलप करना चाहिए, ताकि यदि कोई बड़ी आगजनी की घटना हो तो किसी जनहानि से बचा जा सके।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Sambandhit khabre

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------