परमाणु क्षमता वाली स्वदेश निर्मित बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-1 का सफल परीक्षण

Published Date 2018/02/06 12:31,Updated 2018/02/06 01:04, Written by- FirstIndia Correspondent

ओडिशा। भारत ने अपने देश में विकसित की गई परमाणु क्षमता से लैस बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-1 (ए) का आज सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। ओडिशा के तट से सटे अब्दुल कलाम द्वीप पर मंगलवार सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर भारतीय सेना की स्ट्रैटेजिक फोर्स कमांड ने इस मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। भारतीय सेना के स्ट्रेटजिक फोर्सेज़ कमांड ने 700 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली मिसाइल को परीक्षण के लिए लॉन्च पैड-4 से संचालित किया। 

रक्षा सूत्रों के मुताबिक, यह मिसाइल अग्नि-1 का 18वां संस्करण है। वहीं सतह से सतह पर मार करने वाली एकल चरण मिसाइल को सैन्य बलों द्वारा नियमित परीक्षण अभ्यास के तहत लॉन्च किया गया है। यह परीक्षण सेना द्वारा कम समय में भी इसे प्रक्षेपित करने की तैयारी की पुष्टि करता है। अग्नि -1 मिसाइल में एक विशेष नेविगेशन प्रणाली है, जो यह सुनिश्चित करती है कि मिसाइल बिल्कुल सटीक तरीके से अपना निशाना भेदने में सफल हो। 

यह मिसाइल डीआरडीओ द्वारा विकसित की गई है, जिसकी मारक क्षमता 700 किमी है। 12 टन के वजन वाली यह मिसाइल एक हजार किलोग्राम तक के वजन वाले पारंपरिक और परमाणु आयुध ले जाने में समक्ष है। वहीं 15 मीटर की ऊंचाई वाली इस मिसाइल में लिक्विड और सॉलिड दोनों तरह के ईंधन का प्रयोग हो सकता है, जिसके चलते यह एक सेकंड में 2.5 किमी प्रति घंटे की दूरी तय करती है।

उल्‍लेखनीय है कि पिछले ही महीने 18 जनवरी को भारत ने परमाणु शक्ति से लैस जमीन से जमीन पर मारक वाली देसी अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था। अग्नि मिसाइल श्रृंखला की सबसे शक्तिशाली और सबसे लंबी दूरी की मारक क्षमता वाली यह मिसाइल बीजिंग तक को निशाना बनाने में सक्षम है। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन ने चेन्नई में घोषणा करते हुए कहा था कि हमने परमाणु शक्ति से लैस बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है।

भारत के मिसाइल बेड़े में इस वक्त अग्नि-1, अग्नि-2, अग्नि-3, अग्नि-4 मिसाइलें हैं।  वहीं 26 दिसंबर, 2016 को भारत ने अग्नि-5 का सफल परीक्षण किया था। इन मिसाइलों की मारक क्षमता में अग्नि-1 की 700 किमी, अग्नि-2 की 2,000 किमी, अग्नि-3 और अग्नि-4 की मारक क्षमता 3,500 किलोमीटर की सीमा से अधिक है। इसके अतिरिक्त भारत के पास सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाइलें भी हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Sambandhit khabre

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------