वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, महिलाओं में इस वजह से बढता है IBS का खतरा 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/04/07 12:16

लंदन। वैज्ञानिकों ने कड़ी मेहनत के बाद आखिरकार ये बात पता लगा ली है कि महिलाओं में ही क्यों ज्यादा IBS के खतरे बढ़ते हैं। स्वीडन में कारोलिंस्का इंस्टीट्यूट के अनुसंधानकर्ताओं ने एक डीएनए की पहचान की है, जिसके अनुसार आईबीएस का महिलाओं में बढ़ने के कारण का पता लग गया है। महिलाओं के बारे में वहां के वैज्ञानिकों ने कहा है कि हमने आखिर ये रहस्य सुलझा लिया है कि क्यों औरतों में IBS का खतरा बढ़ जाता है।

वैज्ञानिकों ने बताया कि महिलाओं में एक नए प्रकार के डीएनए की पहचान हुई है, जो संवेदनशील आंत सिंड्रोम (Irritable bowel syndrome) के खतरे को बढ़ा देती है, हालांकि हम कह सकते हैं कि यह आंत से जुड़ी एक सामान्य बिमारी है, लेकिन रीसर्च के अनुसार यह बीमारी पुरुषों से अधिक महिलाओं मे पायी जाती हैं, जिससे पीड़ित होने वाले लोगों में पेट दर्द, गैस, डायरिया और कब्ज की शिकायत रहती है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

क्या है इस बार श्राद्ध की सही तिथि और तारीख़ ? | Good Luck Tips | 22 Sep 2018

राफेल पर राहुल गांधी का PM मोदी पर हमला
मानवेंद्र की स्वाभिमान रैली और सियासत !
कोटा में शक्ति केंद्र सम्मेलन में अमित शाह का संबोधन
Rajasthan Gaurav Yatra | अलवर, बानसूर में CM Vasundhara Raje का संबोधन
कोटा में शक्ति केंद्र सम्मेलन में अमित शाह का संबोधन
मां का बेरहम चेहरा, मासूम बेटे को बैट से पीटा
नन रेप केस : बिशप फ्रैंको मुलक्कल गिरफ्तार