झुंझुनूं: मिट्टी की तरह ढह गया 600 करोंड़ का डैम, रेस्क्यू टीम ने 5 मजदूरों को बचाया

Published Date 2018/04/01 05:19,Updated 2018/04/01 05:30, Written by- Pawan Tailor

झुंझुनूं। झुंझुनूं जिले के मालिसार क्षेत्र में अचानक बांध के टूट जाने पर काफी पानी का  काफी नुकसान हो गया है। पर्थम जानकारी में जो बात मालुम हुई है उसके मुताबिक डैम का खर्चा करीब 588 करोड़ आया था लेकिन बांध टूटने का मुख्य कारण भी निर्माण कार्य में शामिल हुआ घटिया सामान ही था। बांध टूटने के कारण लगभग 8 करोड़ लीटर पानी का नुकसान हुआ है। 
एक्सपर्ट के अनुसार अगर बांध और अन्य कार्यों की मरम्मत भी होती है तो उसमे एक साल से ज्यादा का वक्त लगेगा, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुका होगा और नुकसान काफी हो चुका होगा। बता दें कि अभी पानी से मलसीसर का एक हिस्सा जलमग्न हो गया, हालांकि आबादी क्षेत्र इससे बच गया और जनहानि भी नहीं हुई। 

बांध टूटने का मुख्य कारण  9 मीटर से ज्यादा पानी नहीं भरना था। बता दें कि बांध में 9.5 मी. तक भर दिया गया, जबकि बांध की दीवारें बालू मिटटी से बनी हुई थीं ।
इनमें से 4.5 लाख वर्गमीटर क्षेत्रफल के नौ मीटर जल स्तर क्षमता वाले रिजरवायर में परियोजना के वाटर फिल्टर प्लांट, पंपिंग हाउस की तरफ एक स्थान पर शनिवार सुबह करीब 10 बजे रिसाव होने लगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------