पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में मृतक की पत्नी मोनिका के बयान पुलिस को संदिग्ध लगे, जिसके बाद पुलिस ने उसे तुरन्त हिरासत में ले लिया। वहीं मृतक की काॅल डिटेल से भी साफ हो गया कि उसे फोन करके बुलाया गया था। बुधवार शाम को सुखेर थाना पुलिस ने पूरे हत्याकाण्ड का राजफाश करते हुए बताया कि मोनिका तलाकशुदा थी और उसके घरवालों ने जबरन उसकी शादी विनोद माली से करवा दी थी।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि मोनिका का प्रेम संबंध दुर्गेश तेली से चल रहा था और शादी के बाद भी मोनिका और दुर्गेश के संबंध बरकरार थे। वहीं विनोद माली की बहिन सुनिता के देवर कपिल उर्फ बिट्टू माली से भी मोनिका की मित्रता हो गई थी। करीब एक महीने पहले से ही मोनिका का फोन अक्सर व्यस्त रहने के चलते विनोद और मोनिका में अनबन शुरू हो गई थी, जिस कारण विनोद ने मोनिका की सिम तोड़कर फेंक दी थी।

यही बात मोनिका को अखर गई और उसने विनोद का काम तमाम करने की ठान ली। चार दिन पूर्व ही मोनिका अपने पीहर से ससुराल आई थी, इससे पूर्व उसने कपिल और दुर्गेश से विनोद का खात्मा करने की योजना बना डाली थी। 27 नवम्बर को मोनिका ने उसकी सास के फोन से अपने प्रेमी दुर्गेश से बात की और कहा कि या तो मुझे मार दो या उसे। इसके बाद दुर्गेश ने कपिल से बात की ओर एक योजना के तहत उदयपुर पहुंच गया।

अपनी योजना के मुताबिक, कपिल ने विनोद को गाड़ी ठीक करने के बहाने से चित्रकूट नगर बुलाया, जहां पहले से ही मौजूद दुर्गेश ने विनोद की आंखों में मिर्ची डाल दी। विनोद भागने लगा तो दोनों ने उसका पीछा किया और पत्थरों से उसके चेहरे को इस तरह कुचल डाला कि उसकी शिनाख्त तक भी नहीं हो सके। हत्या के बाद दुर्गेश तो निम्बाहेड़ा वाली बस में फिर बैठ गया, जबकि कपिल फिर से विवाह समारोह में शिरकत करने पंहुच गया था।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/wife-killed-her-husband-with-support-of-lovers-1850008661", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "सुहाग पर भारी पड़ा प्रेम सम्बंध, प्रेमियों के साथ मिलकर पत्नी ने कराया पति का खात्मा", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

सुहाग पर भारी पड़ा प्रेम सम्बंध, प्रेमियों के साथ मिलकर पत्नी ने कराया पति का खात्मा

Published Date 2017/11/30 12:33, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर। जिस शख्स के साथ अग्नि को साक्षी मानकर सात फेरे लिये और सात जन्मों तक उसका साथ देने के कस्में खाने वाली कोई पत्नी अपने ही सुहाग को मिटाने के लिए किस हद तक उतर आती है, इसकी बानगी यहां देखने को मिली है। उदयपुर के सुखेर थाना इलाके में हुई इस घटना में एक पत्नी ने अपने ही सुहाग का खात्मा अपने प्रेमियों द्वारा करवा डाला और अपनी मांग में भरे सिन्दूर की लालिमा को काला कर डाला।

हम बात कर रहे हैं एक ऐसी कलयुगी पत्नी की, जिसने अपने पति को मरवाने के लिए दो प्रेमियों के साथ षड़यंत्र रचा और आखिरकार सुखेर थाने की सुनसान सड़क पर अपने सुहाग का खात्मा करवा डाला। हत्या भी ऐसी निर्मम की कोई भी मृतक का चेहरा तक नहीं पहचान सके।

दरअसल, मंगलवार की सुबह भोईवाड़ा निवासी विनोद माली का शव दो सौ फीट सड़क पर पड़ा मिला था, जिसके बाद से ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई और कयास लगाए जा रहे थे कि इतने सीधे और सरल व्यक्तित्व वाले शख्स को आखिरकार कौन मार सकता है। क्योंकि विनोद की किसी से कोई व्यक्गित दुश्मनी नहीं थी, इसलिए खाकी ने इस पूरे मामले में छानबीन मृतक के घर से ही शुरू की। 

पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में मृतक की पत्नी मोनिका के बयान पुलिस को संदिग्ध लगे, जिसके बाद पुलिस ने उसे तुरन्त हिरासत में ले लिया। वहीं मृतक की काॅल डिटेल से भी साफ हो गया कि उसे फोन करके बुलाया गया था। बुधवार शाम को सुखेर थाना पुलिस ने पूरे हत्याकाण्ड का राजफाश करते हुए बताया कि मोनिका तलाकशुदा थी और उसके घरवालों ने जबरन उसकी शादी विनोद माली से करवा दी थी।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि मोनिका का प्रेम संबंध दुर्गेश तेली से चल रहा था और शादी के बाद भी मोनिका और दुर्गेश के संबंध बरकरार थे। वहीं विनोद माली की बहिन सुनिता के देवर कपिल उर्फ बिट्टू माली से भी मोनिका की मित्रता हो गई थी। करीब एक महीने पहले से ही मोनिका का फोन अक्सर व्यस्त रहने के चलते विनोद और मोनिका में अनबन शुरू हो गई थी, जिस कारण विनोद ने मोनिका की सिम तोड़कर फेंक दी थी।

यही बात मोनिका को अखर गई और उसने विनोद का काम तमाम करने की ठान ली। चार दिन पूर्व ही मोनिका अपने पीहर से ससुराल आई थी, इससे पूर्व उसने कपिल और दुर्गेश से विनोद का खात्मा करने की योजना बना डाली थी। 27 नवम्बर को मोनिका ने उसकी सास के फोन से अपने प्रेमी दुर्गेश से बात की और कहा कि या तो मुझे मार दो या उसे। इसके बाद दुर्गेश ने कपिल से बात की ओर एक योजना के तहत उदयपुर पहुंच गया।

अपनी योजना के मुताबिक, कपिल ने विनोद को गाड़ी ठीक करने के बहाने से चित्रकूट नगर बुलाया, जहां पहले से ही मौजूद दुर्गेश ने विनोद की आंखों में मिर्ची डाल दी। विनोद भागने लगा तो दोनों ने उसका पीछा किया और पत्थरों से उसके चेहरे को इस तरह कुचल डाला कि उसकी शिनाख्त तक भी नहीं हो सके। हत्या के बाद दुर्गेश तो निम्बाहेड़ा वाली बस में फिर बैठ गया, जबकि कपिल फिर से विवाह समारोह में शिरकत करने पंहुच गया था।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Sambandhit khabre

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------