लहूलुहान हालत में था युवक लेकिन फिर भी नही हुआ इलाज के लिए तैयार

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/03 06:17

कोटा। कोटा में आज एमबीएस अस्पताल के बाहर लहूलुहान एक युवक ने अपनी जिद के आगे किसी की नहीं चलने दी। लोग युवक को इलाज के लिए अस्पताल के अंदर ले जाना चाह रहे थे लेकिन वह है कि इलाज कराने के लिए तैयार ही नहीं हुआ। जो भी युवक के पास जाता तो उसे मारने दौड़ता। दरअसल मंद बुद्धि इस युवक का हाथ दांतली से कट गया था और युवक नयापुरा इलाके से एक बस में सवार हुआ था। जब  ड्राइवर ने उसके हाथ से खून बहता हुआ देखा तो वह घबरा गया और उसे तुरंत एमबीएस अस्पताल लेकर पहुंचा। 

इस दौरान बस में कई यात्री सवार थे। अस्पताल आने के बाद भी युवक बस से नीचे नहीं उतरा और अपनी जिद पर अड़ा रहा । यह देख वहां तमाशबीनों की भीड़ जुट गई ना तो युवक बस को वापस ले जाने दे रहा था और ना ही बस से नीचे उतर रहा था। यही नहीं जो भी उसे बस से नीचे उतारने की कोशिश कर रहा था तो उसे लोहे के सरिए और टिफिन से मारने के लिए दौड़ता। हंगामे की सूचना पर पुलिस का जाब्ता भी मौके पर पहुंचा लेकिन वह भी कुछ नहीं कर सका। करीब 2 घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस चौकी के इंचार्ज चंपालाल ने हिम्मत दिखाई और लोगों के साथ मिलकर युवक को काबू में किया। इसके बाद युवक का इलाज कराया गया और फिर उसे छोड़ दिया गया।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

पहले शाहरुख ने नाबालिग को बताया अपनी बहन, बाद में वही शाहरुख शादी के लिए उसे भगा कर ले गया

राज्य मंत्रालय कर्मचारी महासंघ ने भरी हुंकार, प्रदेशभर के कर्मचारियों ने राजधानी में डाला महापड़ाव
सुनिए भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा के कवि की कविता | Rajasthan Gaurav yatra
जीप और ट्रक की जबरदस्त भिड़ंत, हादसे में 3 महिलाओं सहित चार की मौत
विश्व हिंदू परिषद ने फिर अलापा राम नाम का राग
भाजपा मंडल उपाध्यक्ष की हत्या | Rajasthan News
तेज रफ्तार ट्रक दुकान में घुसा, हादसे में 6 लोग हुए घायल
CM राजे का शेखावाटी-ढूंढाड़ मिशन 50! | Election Express