Live News »

PM Modi in Russia: पाकिस्तान को मोदी का कड़ा संदेश, कहा- आंतरिक मामले में दखल बर्दाश्त नहीं

PM Modi in Russia: पाकिस्तान को मोदी का कड़ा संदेश, कहा- आंतरिक मामले में दखल बर्दाश्त नहीं

व्लादिवोस्तोक: PM Modi in रूस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन के ऐतिहासिक दौरे पर रूस के व्लादिवोस्तोक पहुंचे हैं. पीएम मंगलवार देर रात को व्लादिवोस्तोक जहां उनका शानदार तरीके से स्वागत हुआ. बुधवार को पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय वार्ता की. इस दौरान दोनों देशों के बीच कई समझौते हुए.संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान पुतिन ने कहा कि ये हमारे लिए खुशी की बात है कि आज भारत के प्रधानमंत्री रूस के दौरे पर आए हैं,दोनों देशों के बीच काफी पुराने संबंध हैं, हमारी दोस्ती लगातार मजबूत हो रही है, दोनों देश लगातार संपर्क में रहते हैं और हमारे बीच लगातार कई बैठकें हो रही हैं,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के ऐतिहासिक दौरे पर  पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया है.उन्होंने 20वें भारत-रूस वार्षिक सम्मेलन में बगैर नाम लिए पाकिस्तान पर निशाना साधा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रूस और भारत किसी देश के आंतरिक मामले में बाहरी दखल के खिलाफ हैं. उन्होंने ये बात रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में कही. प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति पुतिन के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई. इस दौरान दोनों की उपस्थिति में कई समझौतों का आदान-प्रदान हुआ. मालूम हो कि रूस जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म करने को पहले भी भारत का आतंरिक मामला बता चुका था.

देशों के बीच संबंधों को नई ऊंचाईयों पर ले जाने की कोशिश
पीएम मोदी ने कहा 'हम दोनों देशों के बीच संबंधों को नई ऊंचाईयों पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। भारत में रूस के सहयोग से न्यूक्लियर प्लांट बन रहे हैं, कुछ समय पहले ही में भारत का एक प्रतिनिधिमंडल यहां पर आए और इस दौरान समझौतों को लेकर बातचीत हुई

व्लादिवोस्तोक आना सम्मान की बात 
पीएम मोदी ने संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान कहा 'मेरे लिए पहले भारतीय पीएम के तौर पर व्लादिवोस्तोक आना सम्मान की बात है.मैं अपने मित्र, राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे यहां आमंत्रित किया. मुझे याद है कि 2001 का वार्षिक शिखर सम्मेलन रूस में आयोजित हुआ था, जब वह राष्ट्रपति थे और मैं गुजरात के सीएम के रूप में अटल जी के प्रतिनिधिमंडल में आया था.भारत-रूस की मित्रता उनके संबंधित राजधानी शहरों तक ही सीमित नहीं है. हमने लोगों को इस रिश्ते के मूल बना रखा है.

रूस के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से होंगे सम्मानित 
इस दौरान उन्होंने यह भी कहा, 'आपने घोषणा की है कि मुझे रूस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल' से सम्मानित किया जाएगा.मैं आपका और रूस के लोगों का आभार व्यक्त करता हूं.यह हमारे 2 देशों के लोगों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को प्रदर्शित करता है.यह 130 करोड़ भारतीयों के लिए सम्मान की बात है।' इस सम्मान का ऐलान इस साल अप्रैल में हुआ था

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in