पंजाब में मुस्लिम बहुल मलेरकोटला को जिला बनाने पर बोले CM योगी कहा- यह कांग्रेस की बंटवारे की नीति

पंजाब में मुस्लिम बहुल मलेरकोटला को जिला बनाने पर बोले CM योगी कहा- यह कांग्रेस की बंटवारे की नीति

पंजाब में मुस्लिम बहुल मलेरकोटला को जिला बनाने पर बोले CM योगी कहा- यह कांग्रेस की बंटवारे की नीति

लखनऊ: पंजाब के संगरूर जिले में स्थित मुस्लिम बहुल कस्बे मलेरकोटला (Malerkotla) को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने राज्य का नया जिला बनाने की घोषणा की है. इस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) ने पंजाब के CM और कांग्रेस पार्टी (Congress) पर हमला बोला है. CM योगी ने कहा कि मत और मजहब के आधार पर किसी प्रकार का विभेद भारत के संविधान की मूल भावना के विपरीत है. इस समय मलेरकोटला (पंजाब) का गठन किया जाना कांग्रेस की विभाजनकारी नीति (Divisive Policy) का परिचायक है.

 

शुक्रवार को बनाया गया नया जिला:
दरअसल शुक्रवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (CM Amrindar Singh) ने घोषणा की कि मलेरकोटला राज्य का नया जिला (New District) होगा. संगरूर (Sangrur) जिले में स्थित मलेरकोटला मुस्लिम बहुल कस्बा है. मलेरकोटला के साथ लगे अमरगढ़ और अहमदगढ़ भी पंजाब के इस 23वें जिले का हिस्सा होंगे. संगरूर जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर स्थित मलेरकोटला को जिले का दर्जा कांग्रेस का चुनावी वादा था.

ईद के मौके पर कैप्टन ने किया ऐलान:
ईद-उल-फितर (Eid-ul-Fitr) के मौके पर लोगों को बधाई देने के लिए राज्य स्तर पर ऑनलाइन (Online) तरीके से आयोजित किया गया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मलेरकोटला के लिए 500 करोड़ (500 Crores) रुपये की लागत से मेडिकल कॉलेज (Medical College), एक महिला कॉलेज (Womens College), एक नया बस स्टैंड (Bus Stand) और एक महिला पुलिस थाना (Women Police Station) बनाने की भी घोषणा की थी. नए जिले की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था कि मैं जानता हूं कि यह लंबे समय से लंबित मांग रही है. सिंह ने कहा कि मलेरकोटला शहर, अमरगढ़ और अहमदगढ़ भी मलेरकोटला की सीमा में आएंगे.

 
आजादी के समय पंजाब में थे 13 जिले:
बाद में CM अमरिंदर ने एक ट्वीट (Tweet) में उन्होंने कहा कि यह साझा करते हुए खुशी हो रही है कि ईद-उल-फितर के पाक मौके पर मेरी सरकार ने घोषणा की है कि मलेरकोटला राज्य का नवीनतम जिला होगा. 23वें जिले का विशाल ऐतिहासक महत्व (Great Historical Importance) है. जिला प्रशासनिक परिसर के लिए उचित स्थान का तत्काल पता लगाने का आदेश दिया है. 

CM अमरिंदर सिंह ने कहा कि देश की आजादी के वक्त पंजाब में 13 जिले थे. वर्ष 1947 में बंटवारे के दौरान मलेरकोटला में काफी हद तक शांति रही, जबकि भारत-पाकिस्तान (India Pak) सीमा पर सांप्रदायिक संघर्ष (Communal Conflict) और बड़े पैमाने पर पलायन हुआ.

और पढ़ें