सेना में नौकरी करने से भटक चुका जवान खोल रहा राज

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/02 12:36

श्रीगंगानगर। सेना के भगोड़े सतजंडा निवासी रामचंद्र मेघवाल ने सेना में रहते हुए अपने दोस्त को सेना का फर्जी आईडी कार्ड बनाकर दिया था। उसने ऐसा अपने दोस्त की गर्लफ्रैंड को इंप्रेस करने के लिए के लिए किया था। हालांकि इसी गलती के कारण उसे सेना ने निलंबित कर दिया था। जांच के दौरान सेना ने उसे सजा दी उससे वह परेशान हो गया। सेना की जांच पूरी होने के बाद उसे वापस बहाल किया गया लेकिन अब उसका मन सेना में नौकरी करने से भटक चुका था। 

उसके दिमाग में प्लान चल रहा था कि अगर वह सेना का फर्जी आईकार्ड बना सकता है तो इसी तरह सेना के फर्जी नियुक्ति पत्र भी जारी कर लाखों कमा सकता है। दरअसल जब वह सेना में भर्ती हुआ तो उसके पास उसके गांव से, परिचित और रिश्तेदारों में बहुत लोगों ने अपने बेरोजगार युवकों को सेना में भर्ती कराने को उसी से संपर्क किया था। इसी से इसके दिमाग में आइडिया आया कि क्यों न लोगों को सेना के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर मोटी रकम कमा सकता है। इसके बाद वह सेना से छुट्टी लेकर घर आया और इसके बाद कभी वापस सेना छावनी में डयूटी करने नहीं गया। आरोपी को सूरतगढ़ सिटी पुलिस ने गुरुवार को कोर्ट में पेश कर 5 दिन का रिमांड लिया है। आरोपी को बुधवार दिन में जोधपुर एटीएस और बीकानेर आर्मी इंटेलीजेंस टीम ने एक पीड़ित से रुपए लेते रंगे हाथ ही मौके से ही पकड़ लिया था। 

फर्स्ट इंडिया की पड़ताल : सेना का भगौड़ा दो साल से बहाने बना परिवादी से कर रहा था धोखा 
मैं अपने दोनों बेटों को सेना में भर्ती करवाना चाहता था। इसके लिए दोनों मेहनत भी कर रहे थे लेकिन सफल नहीं हो पा रहे थे। उसी दौरान जब 2016 में सेना की भर्ती चल रही थी तभी जानकार ने बताया कि इस तरह से एक सेना का आदमी है, जो युवकों को सेटिंग कर भर्ती करवा रहा है। मैने फोन नंबर लेकर अपने बीकानेर निवासी भानजे अशोक बिश्नोई को बताया और बात करने को कहा। अशोक ने उस नंबर पर बात की तो वह रामचंद्र मेघवाल का था। 

हालांकि उस दौरान उसने हमें अपने ठिकाने के बारे में नहीं बताया था। फोन पर संपर्क कर उसने हमें सूरतगढ़ बस स्टैंड बुलाया। वहां पर उसने हमसे एक लड़के को सेना में भर्ती कराने के नाम पर 3 लाख 70 हजार के हिसाब से दोनों लड़कों के 7 लाख 40 हजार रुपए ले लिए। इसके करीब तीन सप्ताह बाद ही हमारे घर डाक से दो ज्वॉइनिंग लेटर आए जो सेना के नाम से जारी किए गए थे। इनमें बताया गया था कि लड़कों का सेना में सलेक्शन हो गया है और जॉइन करने को बाद में अलग से बुलावा पत्र भेजा जाएगा। हम इंतजार करते रहे और छह माह बीत गए। 

इसके बाद हमने रामचंद्र से दोबारा संपर्क किया तो उसने बताया कि भर्ती निरस्त हो गई है। अगली भर्ती होगी तब उसमें अपने आप शामिल हो जाएंगे। अगली भर्ती एक साल बाद हुई। इसमें भी हमारे लड़कों का बुलावा पत्र नहीं आया तो हमने दोबारा संपर्क किया। अब रामचंद्र ने बताया कि वह सेना में उच्च अधिकारियों से संपर्क कर रहा है। जल्दी ही ज्वॉइनिंग लेटर आ जाएंगे। ऐसे करते करते हमें इस पर संदेह हुआ। इस पर हमने इसकी डिटेल जुटानी शुरू की। इंटरनेट की मदद से हमने रामचंद्र नाम के युवकों को सर्च किया तो पता चला कि यह सतजंडा गांव का रहने वाला है। हम लोग इसके घर गुपचुप तरीके से आए तब इसकी मां घर पर मिली। उसने बताया कि रामचंद्र तो कम समय ही घर पर आता है। हमारा संदेह पक्का हो गया। इसके बाद हमने आर्मी इंटेलीजेंस और एटीएस जोधपुर को इसकी सूचना दी।

एसआई बेगराज ने बताया कि आरोपी से रामचंद्र मेघवाल बेहद शातिर दिमाग अपराधी है। वह सेना का जवान है और निलंबित रहने के दौरान सेना की पूछताछ के लिए हिरासत में रह चुका है। उसने मोटे तौर पर बताया है कि उसे खुद ही याद नहीं कि कितने लोगों को ठगा है। अब तक उसने 50 से अधिक लोगों के नाम बताए हैं। जैसे जैसे लोगों को पता चलेगा वैसे वैसे लोग मुकदमा दर्ज कराने पुलिस से संपर्क करेंगे। आरोपी को रिमांड पर लिया गया है। 

आरोपी से 9 सिम व सेना के अधिकारियों की रैंक अनुसार फर्जी मोहरें हुई बरामद, कहां से बनवाई, जांच की जा रही : सूरतगढ़ सिटी एसएचओ निकेत पारीक ने बताया कि पुलिस ने आरोपी रामचंद्र मेघवाल से अलग-अलग नंबर की 9 सिम बरामद की है। पुलिस बरामद हुई सिम की कॉल डिटेल चैक करवा रही है। आरोपी से फर्जी तरीके से बनाई गई विभिन्न सेना के अधिकारियों के रैंक कर मोहरे बरामद हुई हैं। यह मोहरे वह कहां से व कैसे तैयार करवाता था, साथ ही ठगी में और कौन लिप्त है व कितने लोगों से रुपए ऐंठे हैं, इसके बारे में पूछताछ की जा रही है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in