सूरत अग्निकांड के बाद प्रदेश में 500 जगहों पर मॉक ड्रिल, 431 प्रतिष्ठानों में नहीं मिले सेफ्टी इक्विपमेंट

Abhishek Shrivastava Published Date 2019/05/29 08:05

जयपुर: गुजरात के सूरत में हुए अग्निकांड के बाद हरकत में आई सरकार के निर्देश पर पिछले तीन दिन में प्रदेश के शहरी निकायों ने 500 प्रतिष्ठानों में फायर सेफ्टी ड्रिल की. कुल मिलाकर 905 प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया. निकाय अधिकारियों ने शहरों के कोचिंग सेंटर,शॉपिंग मॉल, सिनेमा हॉल व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर फायर सेफ्टी ड्रिल की और मौका मुआयना किया.  

सार्वजनिक स्थानों पर की फायर सेफ्टी ड्रिल:
इस दौरान 431 प्रतिष्ठानों में पर्याप्त अग्निशमन उपकरण उपलब्ध नहीं थे. शहरी निकायों ने इन प्रतिष्ठानों को नोटिस भी जारी किए गए. राज्य सरकार ने निकाय अधिकारियों को इस बात के लिए भी पाबंद किया है कि ड्रिल और निरीक्षण के दौरान किसी अग्निशमन अधिकारी की लापरवाही सामने आती है तो उस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव तुरंत राज्य सरकार को भिजवाएं. 

डीएलबी पवन अरोड़ा ने दी जानकारी:
गौरतलब है कि स्थानीय निकाय निदेशक पवन अरोड़ा ने सभी निकायों को निर्देश दिए थे कि वे अपने इलाकों में सार्वजनिक प्रतिष्ठानों में फायर सेफ्टी ड्रिल करें. इसी की पालना में शहरी निकायों ने फायर सेफ्टी ड्रिल की. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in