जयपुर समाजसेवी हाजी रफअत अली के जनाजे में जुटी भीड़ को लेकर बीजेपी ने गहलोत सरकार पर उठाए सवाल, कहा - राज्य का गृहमंत्री कौन है?

समाजसेवी हाजी रफअत अली के जनाजे में जुटी भीड़ को लेकर बीजेपी ने गहलोत सरकार पर उठाए सवाल, कहा - राज्य का गृहमंत्री कौन है?

समाजसेवी हाजी रफअत अली के जनाजे में जुटी भीड़ को लेकर बीजेपी ने गहलोत सरकार पर उठाए सवाल, कहा - राज्य का गृहमंत्री कौन है?

जयपुर: प्रसिद्ध समाजसेवी हाजी रफअत अली (Haji Rafat ali ) के जनाजे (funeral) में हजारों लोगों की भीड़ ने कोरोना (corona) महामारी में सख्त लॉकडाउन (Lockdown) के नियमों की धज्जियां उड़ा कर रख दीं. कोरोना से बचाने के लिए जिन हाजी रफत अहमद की अपील पर ईद का जूलूस टाला गया था, सोमवार को जयपुर में उन्हीं के जनाजे में बड़ी संख्या में भीड़ जुट गई. अब इसी को लेकर प्रदेश भाजपा के नेता गहलोत सरकार पर हमलावर है. प्रदेश भाजपा (BJP) के नेतओं ने राज्य सरकार से सवाल करते हुए कहा कि राज्य का गृहमंत्री कौन है?

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस मामले को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि एक तरफ तो पूर्व विधायक को सुंदरकांड का घर में पाठ करने पर गिरफ्तार कर लिया जाता है तो दूसरा इन्हीं के कैबिनेट के मंत्री के पिताजी के जनाजे में इसी तरीके का दृश्य दिखता है. लेकिन हद तो तब हो गई जब राजधानी में जिस व्यक्ति ने गाइडलाइंस की हिदायत दी थी उसी व्यक्ति के जनाजे में इतनी भीड़ पहुंच गई. अभी भी समय है कि ऐसे लापरवाही से कितने लोगों की जान जा चुकी है. ऐसे दृश्य दिखते हैं तो प्रशासन का भय खत्म होता है. इस घटनाक्रम से पूरे शहर को खतरे में डाल दिया गया है. 

तुष्टीकरण से कांग्रेस खुद का जनाजा निकाल रही: 
इससे आगे पूनिया ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इसके लिए कांग्रेस पार्टी और सीधे तौर पर गृहमंत्री की जिम्मेदारी है. इस तरीके के तुष्टीकरण से कांग्रेस खुद का जनाजा निकाल रही है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में पुलिस तो मर्यादा में बंधी होती है वो शासन के निर्देशों पर चलती है. इसे पुलिस की लापरवाही ना कहकर सत्ता में बैठे लोगों की जिम्मेदारी कहना ज्यादा अच्छा है. सत्ता में बैठे लोग अगर ऐसा आचरण करेंगे तो पब्लिक भी इसका अनुगमन करेगी. वहीं इससे पहले भी पूनिया ने ट्वीट करते हुए सवाल किया था कि राज्य का गृहमंत्री कौन है?

गजेंद्र सिंह शेखावत ने राजस्थान में लॉकडाउन को बताया मजाक:
वहीं केंद्रीय कैबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राज्य सरकार पर बड़ा कटाक्ष कर रामगंज के कल के वीडियो को ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा कि राजस्थान में लॉकडाउन एक मज़ाक है! 

रामलाल शर्मा ने सवाल किया- राजस्थान का गृह मंत्री कौन है और कहा है ? 
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने भी ट्वीटर वीडियो शेयर करते हुए सवाल किया कि राजस्थान का गृह मंत्री कौन है और कहा है ? शेयर वीडियो के ट्वीट में लिखा था कि ये राजस्थान की राजधानी जयपुर है. यहाँ सूबे की सरकार बेठती है, त्रिस्तरीय जन अनुशासन लॉकडाउन लागू है, पुलिस पर लागू करवाने की ज़िम्मेदारी है, हीदा की मोरी में एक जनाज़े ने लॉकडाउन की धज्जियाँ उड़ा दी. पुलिस साथ में रही, लॉकडाउन का पालन नहीं किया गया. 

जनाजे में कई नामी राजनीतिक शख्सियतें भी शामिल हुईं:
आपको बता दें प्रसिद्ध समाजसेवी हाजी रफअत अली के जनाजे में जयपुर के आदर्श नगर से कांग्रेस विधायक रफीक खान समेत कई नामी राजनीतिक शख्सियतें भी शामिल हुईं. पुलिस भी भीड़ को रोकने के बजाय जनाजे के दौरान सुरक्षा इंतजामों में जुटी रही. हाजी रफत का जनाजा पुलिस सुरक्षा में जयपुर के रामगंज बाजार से निकाला गया. जनाजे के वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया. इस पर पुलिस की ओर से अब विधायक रफीक खान समेत 11 लोगों के खिलाफ महामारी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है.

और पढ़ें